scorecardresearch
 
जुर्म

शिकारियों ने चारे में जहर मिलाकर 8 मोरों को मारा, ग्रामीणों ने की धुनाई

शिकारियों ने चारे में जहर मिलाकर 8 मोरों को मारा, ग्रामीणों ने की धुनाई
  • 1/7
राजस्थान के धौलपुर जिले से दिलदहला देने वाला मामला सामने आया है जहां दाने (पक्षियों का चारा) के अंदर विषैला पदार्थ खिलाकर 8 राष्ट्रीय पक्षी मोर की हत्या कर दी गई, जबकि तीन मोर की नाजुक हालत बनी हुई है. वन विभाग की टीम ने उन्हें  उपचार के लिए जिला पशु चिकित्सालय में भर्ती कराया है. जहां उनका इलाज चल रहा है.
शिकारियों ने चारे में जहर मिलाकर 8 मोरों को मारा, ग्रामीणों ने की धुनाई
  • 2/7
वहीं, मौके से ग्रामीणों ने तीन आरोपियों को पकड़ लिया और जमकर धुनाई कर दी लेकिन तीन आरोपी ग्रामीणों के चंगुल से छूट कर फरार हो गए. पकड़े गए आरोपियों को ग्रामीणों ने मनियां थाना पुलिस को सौंप दिया. साथ ही वन विभाग की टीम ने तीनों आरोपियों के बयान दर्ज कर मनियां पुलिस थाने में मामला दर्ज किया है.
शिकारियों ने चारे में जहर मिलाकर 8 मोरों को मारा, ग्रामीणों ने की धुनाई
  • 3/7
पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ राजस्थान वन्य जीव अधिनियम की धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. ये मामला मनियां थाना इलाके के गांव सुंदरपुरा का है. जहां आधा दर्जन शिकारियों ने दाने के अंदर विषैला पदार्थ मिला कर खेतों में फैला दिया. सुबह ही मोरों के झुंड खेतों में दाने के चुगने पहुंच गए. जैसे ही मोरों ने दाने को चुगना शुरू किया तो उनकी तबीयत खराब होने लगी.
शिकारियों ने चारे में जहर मिलाकर 8 मोरों को मारा, ग्रामीणों ने की धुनाई
  • 4/7
विषैला दाना खाने से 8 मोरों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि तीन मोर मूर्छित होकर घायल अवस्था में खेत में ही गिर गए. घटना की जानकारी जैसे ही ग्रामीणों को हुई तो गांव में हड़कंप मच गया और ग्यारह मोरों का झुंड अचेत अवस्था में खेतों में पड़ा हुआ देखा. मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने तीन आरोपियों को घेराबंदी कर दबोच लिया. उनमें से तीन लोग ग्रामीणों के चंगुल से छूट कर फरार होने में कामयाब हो गए.
शिकारियों ने चारे में जहर मिलाकर 8 मोरों को मारा, ग्रामीणों ने की धुनाई
  • 5/7
जिसके बाद ग्रामीणों ने इस मामले की सूचना स्थानीय ग्रामीणों ने मनियां थाना पुलिस को दी. पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर वन विभाग की टीम को अवगत कराया. चिकित्सकों की टीम को मौके पर बुलाकर मोरों का स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया. जिनमें से 8 मोरों को चिकित्सकों ने स्वास्थ्य परीक्षण कर मृत घोषित कर दिया, जबकि तीन मोरों की हालत बेहद नाजुक बताई जा रही है. उन्हें उपचार के लिए जिला पशु चिकित्सालय में भर्ती करा दिया गया है.
शिकारियों ने चारे में जहर मिलाकर 8 मोरों को मारा, ग्रामीणों ने की धुनाई
  • 6/7
वन विभाग की टीम ने तीनों आरोपी प्रकाश, नितिन और अमर मनियां को अपने कब्जे में लेकर मनियां थाना पुलिस के सुपुर्द कर दिया है. वन रक्षक अशोक कुमार सैनी ने बताया कि तीनों आरोपियों को हिरासत में लेकर जानकारी जुटाई जा रही है और उनके बयान दर्ज कर लिए गए हैं. वन विभाग की टीम ने आठ मृत मोरों का मेडीकल बोर्ड से पोस्टमॉर्टम करा दिया हैं. पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ राजस्थान वन्य जीव अधिनियम की धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. फिलहाल 8 राष्ट्रीय पक्षी मोर की हत्या होने से जिले भर में हड़कंप मच गया है और ग्रामीणों में रोष व्याप्त है.
शिकारियों ने चारे में जहर मिलाकर 8 मोरों को मारा, ग्रामीणों ने की धुनाई
  • 7/7
मनियां थाना एसएचओ परमजीत सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय पक्षी मोर के अवैध शिकार के आरोप में मामला आया सामने है. हमें ग्रामीणों से सूचना मिली कि खेतों में मोर पड़े मिले हैं. सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची. आठ मृत मोरों को अपने कब्जे में ले लिया और वहीं, तीन मोर घायल अवस्था में मिले जिनका उपचार चल रहा हैं. वन विभाग की टीम भी मौके पर पहुंच गई और पुलिस द्वारा आगे की कार्रवाई की जा रही है.