scorecardresearch
 

एंटीलिया केस: NIA दफ्तर पहुंचे एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा, परमबीर से भी हुई पूछताछ

एंटीलिया केस में पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के बाद प्रदीप शर्मा को एनआईए के सवालों का जवाब देना होगा. एक समय प्रदीप शर्मा, पुलिस अफसर सचिन वाजे के सीनियर अफसर थे.

पूर्व पुलिसकर्मी और एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा (फाइल फोटो) पूर्व पुलिसकर्मी और एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एंटीलिया केस की जांच तेज
  • परमबीर सिंह से भी हुई पूछताछ

एंटीलिया केस की जांच कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने आज पूर्व पुलिसकर्मी और एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा को पूछताछ के लिए बुलाया है. पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के बाद प्रदीप शर्मा को एनआईए के सवालों का जवाब देना होगा. एक समय प्रदीप शर्मा, पुलिस अफसर सचिन वाजे के सीनियर अफसर थे.

सबसे पहले एंटीलिया केस की जांच महाराष्ट्र एटीएस कर रही थी. एटीएस ने अपनी रिपोर्ट में बताया था कि मनसुख हिरेन ने अंधेरी ईस्ट से अंतिम कॉल किया था और उसका मोबाइल फोन स्वीच ऑफ हो गया था. अंधेरी ईस्ट में ही प्रदीप शर्मा रहते हैं. इस वजह से एटीएस और अब एनआईए के शक के घेरे में प्रदीप शर्मा आ गए.

बता दें कि एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा ने 2019 के विधानसभा चुनावों में शिवसेना का हाथ थाम लिया था. वे चुनाव भी लड़े, लेकिन हार गए थे. प्रदीप शर्मा ने 113 एनकांटर किया. फर्जी एनकाउंटर केस में जेल भी गए. सचिन वाजे, प्रदीप शर्मा के साथ मुंबई पुलिस की एनकाउंटर टीम के प्रमुख हिस्सा रहे हैं.

इससे पहले एनआईए ने मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह से पूछताछ की. परमबीर सिंह सुबह 9:30 बजे एनआईए दफ्तर पहुंचे. उनसे सचिन वाजे और उसकी गतिविधियों के बारे में पूछताछ की गई. आरोप है कि परमबीर सिंह ने सचिन वाजे को मुंबई क्राइम ब्रांच में खुली छूट दी थी. शुरुआत में एंटीलिया केस की जांच भी सचिन वाजे को ही सौंपी गई थी. 

एनआईए का दावा है कि एंटीलिया और मनसुख हिरेन की हत्या मामले में सचिन वाजे के साथ ही कुछ पुलिसकर्मी भी शामिल हैं. एनआईए ने सचिन वाजे की टीम से भी पूछताछ की थी. पिछले महीने एनआईए ने एक डीसीपी रैंक के अफसर से पूछताछ की थी.

इसके अलावा एपीआई रियाज काजी और एपीआई प्रकाश होवाल को एनआईए कई बार पूछताछ के लिए बुला चुकी है. सूत्रों के मुताबिक, एंटीलिया और मनसुख केस में एनआईए को कई लीड मिली है. सूत्रों का कहना है कि अभी एनआईए कई पुलिस अफसरों और पूर्व पुलिसकर्मियों को पूछताछ के लिए बुला सकती है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें