scorecardresearch
 

मालदीव-श्रीलंका के बाद अब ईरान से भारतीयों को वापस लाने रवाना हुआ INS शार्दुल

कोरोना काल में बाहर के देशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने का काम लगातार जारी है. ईरान में फंसे लोगों को वापस लाने के लिए INS शार्दुल सफर शुरू कर चुका है.

X
INS शार्दुल
INS शार्दुल

  • विदेश से भारतीयों को लाने का सिलसिला जारी
  • ईरान से दो सौ लोगों को लाएगा शार्दुल
कोरोना वायरस संकट के बीच अलग-अलग देशों में जो भारतीय फंस गए हैं, उन्हें वापस लाने का सिलसिला जारी है. कई देशों से विमान के जरिए वतन वापसी हो रही है, तो कुछ जगह भारतीय नेवी का सहारा लिया जा रहा है. मालदीव और श्रीलंका के बाद अब ईरान से भी 200 लोगों को वापल लाने के लिए INS शार्दुल को रवाना कर दिया गया है.

INS शार्दुल अबतक 2800 से अधिक लोगों को विदेश से वापस ला चुका है, अब ईरान से दो सौ लोगों को लाना है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

नेवी की ओर से बयान में कहा गया कि समुद्र सेतु के दूसरे फेज़ में नेवी की ओर से ईरान से लोगों को वापस लाया जाएगा. 8 जून को ये प्रक्रिया शुरू होगी, ईरान से इन्हें पोरबंदर लाया जाएगा. इसके लिए ईरान में दूतावास ने लोगों क लिस्ट बनानी, स्क्रीनिंग की तैयारी शुरू कर दी है.

बता दें कि विदेश में फंसे लोगों को वापस लाने के लिए नेवी ने समुद्र सेतु मिशन की शुरुआत 8 मई को की थी. INS शार्दुल के अलावा जलाश्व, मगर भी मालदीव और श्रीलंका से लोगों को कोच्चि और तूतिकोरिन लाया था.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

इन जहाजों में वापसी के लिए लोगों कोकई तरह के नियमों का पालन करना होगा, जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क, हेल्थ स्क्रीनिंग, टेस्टिंग जैसे नियमों का पालन जरूरी है. पोरबंदर में आने के बाद सभी को राज्य सरकार के नियमों का पालन करना होगा.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

गौरतलब है कि विमानों से भी लोगों का वापस लाया जा रहा है, मिशन वंदे भारत के तहत अबतक पचास हजार लोगों को वापस लाया जा चुका है. देश में जब से लॉकडाउन लगा था, तभी से ही अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगा दी गई थी, यही कारण रहा कि हजारों लोग बाहर ही फंस गए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें