scorecardresearch
 

बूस्टर डोज की ABCD, कब...कहां...क्यों...कैसे, हर सवाल का जवाब यहां जानिए

देश में 18 प्लस लोगों को अब फ्री में कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज लगवाई जाएगी. ऐसे में हम आपको बूस्टर डोज से जुड़े हर सवाल का जवाब बता रहे हैं.

X
कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज फ्री में लगेगी कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज फ्री में लगेगी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 18+ को फ्री में ही कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज
  • दूसरी खुराक के 6 महीने बाद लगेगी बूस्टर डोज

देश में अब से 18+ को फ्री में ही कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज देने का फैसला हुआ है. 75 दिनों तक मिशन मोड पर देश में ये अभियान चलाया जाएगा और ज्यादा से ज्यादा लोगों को बूस्टर डोज की खुराक दी जाएगी. लेकिन लोगों के मन में कोरोना वैक्सीन की इस बूस्टर डोज को लेकर कई सवाल हैं. सवाल ये भी है कि क्या बूस्टर लगवाना इतना जरूरी है?

हम आपके लिए बूस्टर डोज की पूरी ABCD यहां लेकर आए हैं. आपके हर सवाल का जवाब सरल भाषा में देने का प्रयास करेंगे.

बूस्टर डोज क्या होती है?

जैसे कोरोना वैक्सीन की दो खुराक लगाई जाती हैं, उसी तरह तीसरी डोज को बूस्टर डोज कहा गया है. इसे प्रिकॉशन डोज या फिर एहतियाती खुराक भी कहा जाता है. लोगों में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए बूस्टर डोज दी जाती है.

बूस्टर डोज लेना क्यों जरूरी है?

इस समय कोरोना के कई वैरिएंट सामने आ चुके हैं. हर वैरिएंट का अलग असर और अंदाज देखने को मिला है. बड़ी बात ये भी है कि एक वैरिएंट दूसरे वैरिएंट के खिलाफ सुरक्षा नहीं देता है. ऐसे में दोनों वैक्सीन लगवाने के बाद भी लोगों की इम्यूनिटी कमजोर पड़ने लगती है. कोरोना की तीसरी लहर के दौरान भी इसी वजह से रीइंफेक्शन के कई मामले देखने को मिले थे. ऐसे में उसी इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए कोरोना वैक्सीन की तीसरी डोज निकाली गई है. इससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता तो बढ़ेगी ही, इसके अलावा कोरोना होने के बाद भी कभी गंभीर लक्षण देखने को नहीं मिलेंगे.

कौन लगवा सकता है बूस्टर डोज?

18 साल से ऊपर का हर शख्स बूस्टर डोज लगवा सकता है. पहले तो बूस्टर डोज सिर्फ बुजुर्ग लोगों के लिए जरूरी बताई गई थी. लेकिन इसी साल अप्रैल महीने में सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए बूस्टर डोज का दायरा बढ़ा दिया था. 18 साल से ऊपर वालों के लिए भी बूस्टर डोल का विकल्प खोल दिया गया था. यहां ये जानना जरूरी है कि सरकार ने अब बूस्टर डोज लगवाने के अंतराल को भी कम कर दिया है. पहले दूसरी डोज लग जाने के 9 महीने बाद ही कोई बूस्टर लगवा सकता था. लेकिन इसे कम करते हुए सरकार ने अब 6 महीना कर दिया है.

कहां लगेगी बूस्टर डोज, कितनी कीमत?

देश के हर प्राइवेट अस्पताल में बूस्टर डोज की सुविधा दी गई है. कुछ राज्यों में दोनों सरकारी और प्राइवेट सेंटरों में बूस्टर डोज लगवाई जा सकती है. बूस्टर की कीमत 350 से 375 रुपये के बीच में रखी गई है. लेकिन सरकार के नए ऐलान के बाद 18 प्लस को बूस्टर डोज फ्री में लगाई जाएगी.

बूस्टर डोज लगवाने की प्रक्रिया क्या है?

अगर आपने कोविशील्ड या कोवैक्सीन में से किसी एक वैक्सीन की दोनों खुराक ले रखी हैं तो आपको पहले दी गई वैक्सीन की ही बूस्टर डोज लगाई जाएगी. वहीं, अगर आपने CoWin ऐप पर पहले से रजिस्ट्रेशन करा रखा है, तो पात्र लोगों को इसी ऐप से बूस्टर डोज के लिए मैसेज आएगा. आप https://selfregistration.cowin.gov.in/ पर जाकर अपना स्लॉट बुक करा सकते हैं.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें