scorecardresearch
 
कोरोना

4 और देशों में ट्रायल शुरू, चीन की कोरोना वैक्सीन साल अंत तक आएगी

China Shows Homegrown Covid-19 Vaccine first Time
  • 1/9

दुनिया में चार और देश कोरोना वैक्सीन के ट्रायल में कूद गए हैं. ये देश हैं- पाकिस्तान, सर्बिया, इंडोनेशिया और ब्राजील. इन चारों देशों में वैक्सीन पर ट्रायल तेजी से शुरू हो चुका है. इस बीच, चीन ने एक और हैरानी वाला कदम उठाया है. कई हफ्तों से जिस कोरोना वैक्सीन को वह छिपाकर रख रहा था, अब उसे सार्वजनिक कर दिया है. चीन ने बीजिंग ट्रेड फेयर में अपने देश में बनाई गई कोरोना कोविड-19 वैक्सीन का प्रदर्शन किया. इस एग्जीबिशन के बाद अब दुनिया भर की बातों पर विराम लग जाएगा. इस वैक्सीन को साइनोवैक बायोटेक और साइनोफार्म दवा कंपनी ने मिलकर बनाया है. 

China Shows Homegrown Covid-19 Vaccine first Time
  • 2/9

दोनों कंपनियों या फिर चीन की सरकार ने इस वैक्सीन का कोई आधिकारिक नाम नहीं दिया है लेकिन बीजिंग ट्रेड फेयर में इस वैक्सीन की छोटी-छोटी बोतलें प्रदर्शित की गई थीं. यह वैक्सीन फेज-3 ट्रायल में है. उम्मीद जताई जा रही है कि साल के अंत तक इस वैक्सीन को बाजार में लाने की अनुमति मिल जाएगी. 

China Shows Homegrown Covid-19 Vaccine first Time
  • 3/9

साइनोवैक बायोटेक दवा कंपनी ने न्यूज एजेंसी AFP को बताया कि हमने वैक्सीन बनाने वाली फैक्ट्री का निर्माण पूरा कर लिया है. इस फैक्ट्री में 300 मिलियन यानी 30 करोड़ डोज साल भर में बनाई जा सकेंगी. बीजिंग ट्रेड फेयर ज्यादातर लोग वैक्सीन वाले बूथों पर इकट्ठा थे. क्योंकि चीन ही सबसे पहले कोरोना वायरस की चपेट में आया था. उसके बाद पूरी दुनिया परेशान हुई और हो रही है. 

China Shows Homegrown Covid-19 Vaccine first Time
  • 4/9

चीन पूरी दुनिया में कोरोना वायरस को संभालने में नाकाम रहा है. इसे लेकर पूरी दुनिया उसकी निंदा कर रही है, इसलिए अब चीन पुरानी खराब इमेज को सही करने की कोशिश में लगा है. वह लगातार ऐसे-ऐसे काम कर रहा है, जिससे लोगों का ध्यान कोरोना से हट जाए. अगर कोरोना पर जाए भी तो वह सकारात्मक तरीके से जाए. 

China Shows Homegrown Covid-19 Vaccine first Time
  • 5/9

चीन की सरकार और मीडिया अब ये बताने में जुटी है कि वुहान वापस अपने पैरों पर खड़ा हो चुका है. इस भयानक महामारी ने चीन का कुछ नहीं बिगाड़ा. चीन की सरकार ने बेहतरीन तरीके से कोरोना वायरस को संभाला है और पूरी दुनिया को बताया कि वह किसी भी महामारी को रोकने में सक्षम है. 

China Shows Homegrown Covid-19 Vaccine first Time
  • 6/9

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने मई में कहा था कि चीन की वैक्सीन पूरी दुनिया की भलाई के लिए होगी. आपको बता दें की चीन की ये वैक्सीन दुनिया की 10 उन वैक्सीन में से एक है जो फेज-3 ट्रायल में जा चुकी हैं. इसके बाद इसे बाजार में लाने की अनुमति मिलेगी. ताकि बीमार लोगों और फ्रंटलाइन कोरोना वॉरियर्स को संक्रमण से बचाया जा सके. 

China Shows Homegrown Covid-19 Vaccine first Time
  • 7/9

साइनोफार्म दवा कंपनी ने कहा कि उसे पूरा भरोसा है कि उसकी वैक्सीन से शरीर में विकसित हुए एंटीबॉडी एक साल से लेकर तीन साल तक कारगर रहेंगे. इसके बाद फिर वैक्सीन लेनी होगी अगर कोरोना वायरस का संक्रमण होता है तो. नहीं तो एक बार वैक्सीन लेने से कोरोना संक्रमण से इंसान बच जाएगा. दुनिया को अब बातें बनाना बंद करना चाहिए, हमने वैक्सीन बना ली है. 

China Shows Homegrown Covid-19 Vaccine first Time
  • 8/9

साइनोफार्म के चेयरमैन ने मीडिया के सामने कहा कि हमारी वैक्सीन के दो डो़ज की कीमत 146 डॉलर यानी 10,723 रुपए के आसपास होगी. उन्होंने बताया कि मैंने तो खुद वैक्सीन की एक डोज ले रखी है. मैं एकदम चुस्त-दुरुस्त हूं. मेरे शरीर में किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं है. ट्रायल खत्म होने के बाद ये वैक्सीन और कारगर साबित होगी. 

China Shows Homegrown Covid-19 Vaccine first Time
  • 9/9

इस बीच खबर ये भी आई है कि चीनी सेना द्वारा विकसित कोविड-19 वैक्सीन कोरोना के म्यूटेशन से भी लड़ाई कर सकता है. इसका मतलब ये है कि शरीर में अगर कोरोना म्यूटेशन करके हमला करता है तो भी संक्रमित शख्स को असर नहीं होगा. लेकिन दूसरी तरफ विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि अगले साल मध्य तक बड़े पैमाने पर कोविड वैक्सीनेशन नहीं हो पाएगा. (फोटोः रॉयटर्स/गेटी/एएफपी)