scorecardresearch
 

रुपये की कमजोर शुरुआत, डॉलर के मुकाबले 72.55 पर खुला

तुर्की में जारी आर्थ‍िक संकट, यूएस और चीन के बीच जारी ट्रेड वॉर और डॉलर में आ रही मजबूती की वजह से रुपया लगातार कमजोर हो रहा है. हालांकि सरकार का कहना है कि फिलहाल इस से घबराने की जरूरत नहीं है.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

डॉलर के मुकाबले 73 के करीब पहुंचने के बाद रुपये ने थोड़ा संभलना शुरू कर दिया है. मंगलवार को रुपये ने हल्की गिरावट के साथ शुरुआत की है. इस कारोबारी हफ्ते के दूसरे दिन रुपया एक डॉलर के मुकाबले 72.55 के स्तर पर खुला है.

इससे पहले सोमवार को यह डॉलर के मुकाबले 72.51 के स्तर पर बंद हुआ था.  बता दें कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बन रहे विपरीत हालातों की वजह से रुपये में लगातार गिरावट देखने को मिल रही है.

तुर्की में जारी आर्थ‍िक संकट, यूएस और चीन के बीच जारी ट्रेड वॉर और डॉलर में आ रही मजबूती की वजह से रुपया लगातार कमजोर हो रहा है. हालांकि सरकार का कहना है कि फिलहाल इससे घबराने की जरूरत नहीं है.

सरकार के मुताबिक रुपये में जारी गिरावट बाहरी वजहों से है. भारतीय रिजर्व बैंक के पास विदेशी मुद्रा भंडार की कमी नहीं है. ऐसे में रुपये में जारी गिरावट से चिंता करने की बात नहीं है.

वित्त मंत्रालय के प्रधान आर्थिक सलाहकार संजीव सान्याल ने लोगों की उस आशंका को भी दूर किया है, जिसमें अनुमान जताया जा रहा था कि गिरते रुपये की वजह से आरबीआई ब्याज दरों में बढ़ोतरी करेगा.

इसको लेकर सान्याल ने कहा कि सरकार के पास रुपये में जारी जारी गिरावट की स्थ‍िति से निपटने को पर्याप्त उपाय बचे हुए हैं. ऐसे में आरबीआई को ब्याज दरें बढ़ाने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें