scorecardresearch
 

चीन, जर्मनी और फ्रांस के साथ मिलकर स्टेशनों को चमकाएगी रेलवे

भारतीय रेलवे बेल्जियम के साथ स्टेशनों की जमीन और एयर स्पेस को डेवलप करने को लेकर बातचीत कर रही है. बेल्जियम के साथ भारतीय रेलवे ज्वॉइंट वेंचर कंपनी बनाकर मुंबई सेंट्रल, जम्मू, जयपुर और वाराणसी रेलवे स्टेशनों को कमर्शियल तरीके से विकसित करेगी.

पर्यटन मंत्रालय भी कई स्टेशनों को चमकाएगा, जिनमें वाराणसी का स्टेशन भी शामिल है पर्यटन मंत्रालय भी कई स्टेशनों को चमकाएगा, जिनमें वाराणसी का स्टेशन भी शामिल है

देशभर के रेलवे स्टेशनों को एयरपोर्ट की तर्ज पर डेवलप करने के सपने को पूरा करने के काम में दूसरे देशों की मदद लेने की रेलवे की कोशिश रंग लाती दिख रही है. रेल मंत्रालय चीन, बेल्जियम, फ्रांस और जर्मनी के साथ रेलवे स्टेशनों को विकसित करने के मसले पर बातचीत कर रहा है. आईआरएसडीसी के साथ मिलकर चाइना रेलवे कंस्ट्रक्शन इंजीनियरिंग ग्रुप न्यू भुवनेश्वर रेलवे स्टेशन और बैयप्पनहल्ली (बंगलुरु) रेलवे स्टेशन को डेवलप करेगा.

भारतीय रेलवे बेल्जियम के साथ स्टेशनों की जमीन और एयर स्पेस को डेवलप करने को लेकर बातचीत कर रही है. बेल्जियम के साथ भारतीय रेलवे ज्वॉइंट वेंचर कंपनी बनाकर मुंबई सेंट्रल, जम्मू, जयपुर और वाराणसी रेलवे स्टेशनों को कमर्शियल तरीके से विकसित करेगी. इस तालमेल के बारे में कई दौर की बातचीत हो चुकी है और जल्द ही इसको अंतिम रूप दे दिया जाएगा.

भारत-फ्रांस में जल्द साइन हो सकता है एमओयू
रेलवे स्टेशनों को बेहतरीन तरीके से डेवलप करने के मसले में फ्रांस भी दिलचस्पी ले रहा है. पंजाब के दो रेलवे स्टेशनों लुधियाना और अंबाला को विकसित करने के लिए फ्रांस अपना प्लान रेल मंत्रालय को सौंप चुका है और इसको अंतिम रूप दिया जा रहा है. रेल मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक फ्रांस और भारत के बीच इस बारे में बहुत ही जल्दी एमओयू साइन किए जाने की घोषणा की जाने वाली है.

नागपुर और सिकंदराबाद स्टेशनों को रिडेवलप कर सकता है जर्मनी
इसी तरह जर्मनी ने नागपुर और सिकंदराबाद रेलवे स्टेशनों को रिडेवलप करने में दिलचस्पी दिखाई है. इन दोनों रेलवे स्टेशनों पर कौन कौन से प्रोजेक्ट डेवलप किए जाने हैं इसको लेकर रेल मंत्रालय और जर्मनी के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है. इस मामले में समझौते को अंतिम रुप जल्द ही दिए जाने की पूरी संभावना है.

इन स्टेशनों को बेहतर बनाएगा पर्यटन मंत्रालय
पर्यटन मंत्रालय ने भी रेलवे स्टेशनों को बेहतर बनाने में दिलचस्पी दिखाई है. पर्यटन मंत्रालय रेल मंत्रालय के साथ मिलकर ऐसे रेलवे स्टेशनों को बेहतर यात्री सुविधाएं मुहैया कराएगा, जहां पर टूरिस्टों की आवाजाही ज्यादा है. इसमें आने वाली 240 करोड़ रुपये की लागत को दोनों मंत्रालय मिलकर वहन करेंगे. जिन स्टेशनों पर ये किया जाएगा वो हैं- हैदराबाद, हासपेट, आगरा, रायबरेली, वाराणसी, कामाख्या, हरिद्वार, गया, मदुरई, तारापीठ, तिरुवनंतपुरम, अमृतसर, दिल्ली सफदरजंग, कुरुक्षेत्र, औरंगाबाद, नांदेड़, पुरी, ताराकेश्वर, रामेश्वरम, तिरुपति, गुवाहाटी, जयपुर, अजमेर, न्यू जलपाईगुड़ी हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें