scorecardresearch
 

सरकार ने चलाई कैंची, PPF-सुकन्या समेत सभी सेविंग स्कीम की ब्याज दरों में भारी कटौती

कोरोना वायरस के चलते पहले भारतीय रिजर्व बैंक ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट पर कैंची चलाई, और अब सरकार ने आम आदमी को झटका दे दिया है. सरकार ने छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर में बड़ी कटौती कर दी है.

सरकारी बचत योजनाओं की ब्याज दर में कटौती (Photo: File) सरकारी बचत योजनाओं की ब्याज दर में कटौती (Photo: File)

  • स्मॉल सेविंग स्कीम पर ब्याज में 1.40 फीसदी तक की कटौती
  • घटी हुई ब्याज दरें अप्रैल-जून 2020 की तिमाही में लागू होंगी

कोरोना वायरस के चलते पहले भारतीय रिजर्व बैंक ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट पर कैंची चलाई, और अब सरकार ने आम आदमी को झटका दे दिया है. सरकार ने छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर में बड़ी कटौती कर दी है.

आम आदमी की बचत पर चली कैंची

दरअसल, केंद्र सरकार ने पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF), नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC) और सुकन्या समृद्धि योजना जैसी स्मॉल सेविंग स्कीम पर ब्याज दर घटा दी है. सरकार ने स्मॉल सेविंग स्कीम की ब्याज दर में 0.70 फीसदी से 1.40 फीसदी तक की कटौती कर दी है. यह घटी हुई ब्याज दर अप्रैल-जून 2020 की तिमाही में लागू होगी.

PPF के अलावा किसान विकास पत्र और सुकन्या समृद्धि योजना में अब ब्याज दर कम मिलेगी. PPF पर ब्याज दर में 0.80 फीसद की भारी कमी की गई है, अब अप्रैल-जून तिमाही के दौरान PPF पर 7.1 फीसदी का ब्याज मिलेगा.

इसे पढ़ें: EMI-क्रेडिट कार्ड पर 3 महीने की छूट लें या नहीं? ऐसे 10 सवालों के जवाब

किसानों को भी मिलेगा अब बचत पर कम ब्याज

वहीं, किसान विकास पत्र पर 0.70 फीसद ब्याज दर घटाकर 6.9 फीसद कर दिया गया है. नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट पर ब्याज दर में 1.10 फीसद की बड़ी कटौती की गई है, अब इस स्कीम में निवेश पर निवेशकों को 6.8 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा.

इसे भी पढ़ें: शेयर बाजार हुआ फीका तो खूब बढ़ी सोने की चमक, तोड़ दिए सारे रिकॉर्ड

इसके अलावा सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश पर ब्याज दर 8.4 फीसदी से घटाकर 7.6 फीसदी कर दी गई है. इस योजना में बड़ी 0.8 फीसदी की कटौती गई है. गौरतलब है कि लंबे समय से इस बात के कयास लगाए जा रहे थे कि सरकार लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दर में कमी कर सकती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें