scorecardresearch
 

अगले महीने दो स्वर्ण योजनाएं लाएगी मोदी सरकार

सरकार अगले महीने दो स्वर्ण योजनाएं- स्वर्ण मौद्रीकरण और सॉवरेन स्वर्ण बॉन्ड योजना पेश करेगी. पीली धातु की मांग पर लगाम लगाने और इसके आयात पर नियंत्रण के इरादे से ये योजनाएं लाई जा रही हैं.

स्वर्ण मौद्रीकरण और सॉवरेन स्वर्ण बॉन्ड योजना पेश करेगी मोदी सरकार स्वर्ण मौद्रीकरण और सॉवरेन स्वर्ण बॉन्ड योजना पेश करेगी मोदी सरकार

सरकार अगले महीने दो स्वर्ण योजनाएं- स्वर्ण मौद्रीकरण और सॉवरेन स्वर्ण बॉन्ड योजना पेश करेगी. पीली धातु की मांग पर लगाम लगाने और इसके आयात पर नियंत्रण के इरादे से ये योजनाएं लाई जा रही हैं.

आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकान्त दास ने सोमवार को कहा, दो योजनाएं हैं- स्वर्ण मौद्रीकरण और सावरेन गोल्ड बॉन्ड. हम इनके ब्योरे पर काम कर रहे हैं. हमारी रिजर्व बैंक के साथ बैठकें हुई हैं. दोनों योजनाएं नवंबर में शुरू की जाएंगी. दास ने कहा कि सरकार जल्द अशोक चक्र के चिन्ह वाले सोने के सिक्के जारी करेगी जिससे आयातित सिक्कों की मांग पर अंकुश लगाया जा सकेगा।.

उन्होंने कहा, एमएमटीसी द्वारा इस दिशा में पहले ही कार्रवाई की गई है और तारीख की घोषणा जल्द होगी. जल्द इसे जारी किया जाएगा. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अपने बजट भाषण में सोने के सिक्के जारी करने की घोषणा की थी. सोने के आयात को हतोत्साहित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पिछले महीने दोनों योजनाओं को मंजूरी दी थी.

स्वर्ण मौद्रीकरण योजना के तहत किसी भी रूप में सोना एक से 15 साल की अवधि के लिए बैंक में जमा कराया जा सकेगा. इस पर ब्याज मिलेगा. परिपक्वता अवधि पूरी होने पर इसकी निकासी उस समय के मूल्य पर की जा सकेगी. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना के तहत लोग पीली धातु की खरीद निवेश के रूप में कर सकेंगे. इस तरह के बॉन्ड 5 ग्राम, 10 ग्राम, 50 ग्राम और 100 ग्राम में पांच से सात साल के लिए जारी किए जाएंगे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें