scorecardresearch
 

प्रवासी मजदूरों के लिए सरकार की नई योजना, 116 जिलों में मिलेगा रोजगार

रोजगार सृजन के मकसद से सरकार एक बड़ी योजना की शुरुआत करने जा रही है. इस योजना का नाम गरीब कल्याण रोजगार अभियान है.

गरीब कल्याण रोजगार अभियान का मजदूरों को मिलेगा फायदा (PTI) गरीब कल्याण रोजगार अभियान का मजदूरों को मिलेगा फायदा (PTI)

  • पीएम मोदी ने लॉन्च की गरीब कल्याण रोजगार योजना
  • 6 राज्य के 116 जिलों के मजदूरों को मिलेगा फायदा

कोरोना संकट काल में बड़े पैमाने पर प्रवासी मजदूरों ने घर वापसी की है. ऐसे में मजदूरों के पास रोजगार का संकट खड़ा हो गया है. ऐसे मजदूरों और कामगारों को उनके घर-गांव के पास ही रोजगार के मकसद से केंद्र सरकार ने गरीब कल्याण राजगार अभियान की शुरुआत की है. पीएम मोदी ने इस योजना को लॉन्च किया है.

इस योजना के तहत देश के विभिन्न भागों से पलायन कर अपने अपने गांव पहुंचे प्रवासी मजदूरों को रोजगार मुहैया कराया जाएगा. इसके साथ ही साथ अभियान को देश के छह राज्यों के 116 जिलों में शुरू किया जायेगा.

किस राज्य में कितने जिले

11_061820042949.jpg

50 हजार करोड़ रुपये की लागत

50 हजार करोड़ रुपये की लागत से शुरू की जा रही इस योजना के तहत कामगारों को 25 प्रकार के काम दिये जायेंगे. जिन राज्यों को इस योजना से फायदा होगा उसमें बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा शामिल हैं. इसका फायदा 25 हजार प्रवासी मजदूरों को मिलने का दावा किया जा रहा है. सरकार का दावा है कि मजदूरों की स्किल मैपिंग की गई है.

ये पढ़ें— लॉकडाउन से बाहर निकलेगा कोल सेक्टर

इससे पहले, गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निजी क्षेत्र के लिए 41 कोल ब्लॉक्स की नीलामी प्रक्रिया की लॉन्चिंग की. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि आज हम सिर्फ कॉमर्शियल कोल माइनिंग के लिए नीलामी प्रक्रिया की शुरुआत नहीं कर रहे हैं, बल्कि कोल सेक्टर को दशकों के लॉकडाउन से भी बाहर निकाल रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें