scorecardresearch
 

किसानों को मोदी सरकार की सौगात, MSP में बढ़ोतरी का ऐलान

मोदी सरकार दिवाली से पहले देश के किसानों को बड़ा तोहफा दिया है. कैबिनेट की बैठक में रबी की फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने के फैसले पर मुहर लग गई है.

दिवाली से पहले किसानों को तोहफा दिवाली से पहले किसानों को तोहफा

  • जौ के समर्थन मूल्य में 85 रुपये क्विंटल की बढ़ोतरी

  • गेहूं के समर्थन मूल्य में भी 85 रुपये क्विंटल की बढ़ोतरी

मोदी सरकार दिवाली से पहले देश के किसानों को बड़ा तोहफा दिया है. कैबिनेट की बैठक में रबी की फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने के फैसले पर मुहर लग गई है.

किसानों को तोहफा

दरअसल रबी फसलों की रोपाई शुरू होने से पहले सरकार सीजन की प्रमुख फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में वृद्धि की घोषणा कर दी है. गेहूं के समर्थन मूल्य में 85 रुपये की बढ़ोतरी की गई है. पहले 1840 रुपये प्रति क्विंटल था, जो 2020-21 के लिए बढ़ाकर 1925 रुपये क्विंटल कर दिया गया है.

वहीं जौ का समर्थन मूल्य साल 2019-20 के लिए 1,440 रुपये क्विंटल है, जिसमें 85 रुपये की बढ़ोतरी की गई है, जो बढ़कर 1525 रुपये क्विंटल हो गया है.

pib_102319044739.jpg

MSP पर कैबिनेट की मुहर

दरअसल कृषि लागत एवं मूल्य आयोग (सीएसीपी) द्वारा रबी फसलों के एमएसपी में वृद्धि की सिफारिश किए जाने के बाद काफी समय से इसकी घोषणा का इंतजार किया जा रहा था.

गौरतलब है कि मौजूदा समय में गेहूं का एमएसपी 1,840 रुपये, जौ का 1,440 रुपये, चना का 4,620 रुपये, मसूर का 4,475 रुपये, सरसों का 4,200 रुपये और कुसुम का 4,945 रुपये प्रति क्विंटल था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें