scorecardresearch
 

RBI बैठक का असर बाजार पर, सेंसेक्‍स 250 अंक टूटकर 35,884 पर बंद

रिजर्व बैंक की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी की बैठक का असर शेयर बाजार पर भी देखने को मिला.

फोटो- प्रतीकात्‍मक फोटो- प्रतीकात्‍मक

रिजर्व बैंक की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी ने बुधवार को ब्याज दरों में किसी तरह का बदलाव न करने का निर्णय लिया है.  RBI के इस फैसले का असर शेयर बाजार में भी देखने को मिला और कारोबार के दौरान गिरावट बढ़ गई.

सेंसेक्स करीब 250 अंक टूटकर 35,884 पर बंद हुआ, वहीं निफ्टी भी  85 अंक लुढ़ककर 10,784 पर बंद हुआ. आरबीआई की बैठक में होने वाले फैसले को देखते हुए शुरू से ही निवेशकों के बीच सतर्कता देखने को मिली.  इस वजह से बुधवार को कारोबार की शुरुआत भी गिरावट के साथ ही हुई और सेंसेक्‍स 200 अंक तक टूट गया.  

कारोबार के दौरान जिन शेयर्स में तेजी दर्ज की गई उनमें एचयूएल, एचडीएफसी, विप्रो, रिलायंस एचडीएफसी बैंक, अदानी पोर्ट्स हैं. वहीं लाल निशान वाले शेयर में टीसीएस, एशियन पेंट्स, बजाज ऑटो, इन्फोसिस और हीरो मोटो कॉर्प शामिल हैं.

लगातार दो दिन बाजार की ऐसी रही चाल

इससे पहले भारतीय शेयर बाजार के लिए मंगलवार का दिन भी ठीक नहीं रहा और सेंसेक्‍स 107 अंक गिरकर 36,134 पर बंद हुआ जबकि निफ्टी भी लुढ़ककर 10869 पर आ गया. वहीं सोमवार को लगातार छठे कारोबारी सत्र में तेजी का सिलसिला जारी रहा. सोमवार को बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज का सेंसेक्स 47 अंक की मामूली बढ़त के साथ 36,241 अंक पर बंद हुआ जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 7 अंक की बढ़त के साथ 10,883.75 अंक पर बंद हुआ था.

ब्‍याज दरों में बदलाव नहीं

बता दें कि रिजर्व बैंक ने बुधवार को अपनी मॉनिटरी पॉलिसी समीक्षा में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है. केंद्रीय बैंक ने रेपो रेट को 6.5 फीसदी पर बरकरार रखा है. वहीं रिवर्स रेपो रेट 6.25 फीसदी पर बना हुआ है. आरबीआई के इस फैसले से उन लोगों को झटका लगा है जो EMI पर कटौती की उम्‍मीद कर रहे थे.  इसके अलावा रिजर्व बैंक ने वित्त वर्ष 2019-20 की पहली छमाही के लिए जीडीपी ग्रोथ रेट का अनुमान 7.5 फीसदी जताया है. अक्टूबर में हुई पिछली समीक्षा बैठक में भी रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें