scorecardresearch
 

भूटान की ह‍िदायत- घर में न रखें भारतीय मुद्रा, फिर नोटबंदी हुई तो हम जिम्मेदार नहीं

भूटान ने भारतीय मुद्रा को घर में रखने को लेकर अपने नागरिकों को अलर्ट किया है. देश के केंद्रीय बैंक रॉयल मॉनिटरी अथॉरिटी (RMA) ने हिदायत दी है कि आम लोग इंडियन करंसी को घर में न रखें. बैंक ने कहा है कि अगर फिर से नोटबंदी हुई, तो उसकी जिम्मेदारी नहीं होगी.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

भूटान ने भारतीय मुद्रा को घर में रखने को लेकर अपने नागरिकों को अलर्ट किया है. देश के केंद्रीय बैंक रॉयल मॉनिटरी अथॉरिटी (RMA) ने हिदायत दी है कि आम लोग इंडियन करंसी को घर में न रखें. बैंक ने कहा है कि अगर फिर से नोटबंदी हुई, तो उसकी जिम्मेदारी नहीं होगी.

भूटान के केंद्रीय बैंक ने हिदायत दी है कि लोग भारतीय मुद्रा को अपने पास न रखकर उसे बैंकों में जमा कराएं. भारतीय मुद्रा को लेकर मंगलवार को भूटान के केंद्रीय बैंक ने एडवायजरी जारी की है.

इसमें कहा गया है कि भारत की तरफ से जारी 500 रुपये के नए नोट में 25 हजार रुपये से ज्यादा अपने पास न रखें. एडवायजरी के मुताबिक 11 जून से यह नियम लागू हो चुका है. इसके अलावा बंद हो चुके 500 रुपये के नोट को लेकर भी सावधान रहने की हिदायत दी गई है.

RMA ने अपने नागरिकों को 500 रुपये के नकली नोटों से भी सावधान रहने की हिदायत दी है. उसने अपने बयान में कहा है कि जब भी आप 500 रुपये का नोट स्वीकार करें, तो नकली नोटों को लेकर सतर्कता जरूर बरतें.

भूटान की न्यूज एजेंसी के मुताबिक केंद्रीय बैंक के डेप्यूटी गवर्नर फजो दोर्जी ने कहा कि 25 हजार की अध‍िकतम सीमा को भारत में चलन में शामिल नकली नोटों को ध्यान में रखकर ही तय किया गया है. उन्होंने कहा, ''क्योंकि हमारे देश की सीमा भारत से लगती है. ऐसे में संभावना है कि नकली नोट भूटान में भी पहुंच जाएं.''

बता दें कि भारत सरकार ने नवंबर, 2016 में नोटबंदी की घोषणा की थी. इस दौरान 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट को बंद कर दिया गया था. इसका असर भूटान और नेपाल जैसे देशों में भी देखने को म‍िला था. यहां पर भारतीय मुद्रा का बड़े स्तर पर इस्तेमाल होता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें