scorecardresearch
 

जैक मा ने डोनाल्ड ट्रंप को दिया 10 लाख नौकरियों का फॉर्मूला

अलीबाबा के प्रमुख जैक मा ने अमेरिकी राष्ट्रपति नियुक्त डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात कर अमेरिका में 10 लाख नई नौकरियां पैदा करने का वादा किया है. अलीबाबा की तरफ से अमेरिका को पेशकश की गई है कि वह अपने प्लैटफॉर्म पर 10 लाख छोटे अमेरिकी कारोबारियों के प्रोडक्ट को चीन में बेचने में मदद करेगा.

अब अमेरिका को 5 साल में जैक मा देंगे 10 लाख नई नौकरियां अब अमेरिका को 5 साल में जैक मा देंगे 10 लाख नई नौकरियां

अलीबाबा के प्रमुख जैक मा ने अमेरिकी राष्ट्रपति नियुक्त डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात कर अमेरिका में 10 लाख नई नौकरियां पैदा करने का वादा किया है. अलीबाबा की तरफ से अमेरिका को पेशकश की गई है कि वह अपने प्लैटफॉर्म पर 10 लाख छोटे अमेरिकी कारोबारियों के प्रोडक्ट को चीन में बेचने में मदद करेगा.

जैक मा की कंपनी की तरफ से कहा गया है कि इस प्लैटफॉर्म से प्रत्येक कंपनी से एक नई नौकरी का इजाफा होगा लिहाजा कुल मिलाकर अमेरिका में 10 लाख नई नौकरियां पैदा की जा सकेंगी.

गौरतलब है कि जैक मा लंबे समय से अमेरिका बाजार में प्रवेश करने की कोशिश करता रहा है लेकिन यह पहला मौका है जब कंपनी की तरफ से नई नौकरियों के सृजन का खास टार्गेट रखा गया है.

डोनाल्ड ट्रंप और जैक मा की यह मुलाकात नए राष्ट्रपति के शपथ लेने से ठीक एक हफ्ते पहले हुई है. मा और ट्रंप की यह मुलाकात न्यूयार्क स्थित ट्रंप टॉवर में हुई. मुलाकात के बाद जैक मा ने ट्रंप को स्मार्ट और खुले विचारों वाले नेता की संज्ञा दी.

ट्रंप और जैक मा की मुलाकात में अहम बाते

1. दोनों ने अमेरिका में छोटे कारोबारियों की मदद करने पर वार्ता की.

2. जैक मा के फॉर्मूले से अमेरिका के मिडवेस्ट में किसानों और छोटे कपड़ा मैन्यूफैक्चर्रस को फायदा होगा.

3. अलीबाबा प्लैटफॉर्म पर छोटे अमेरिकी कारोबारी चीन के बाजार से सीधे जुड़ सकते हैं.

4. अलीबाबा के टीमॉल आनलाइन शॉपिंग प्लैटफार्म पर अमेरिकी कंपनियां खोल सकेंगी वर्चुअल स्टोर.

5. इसके साथ ही टीमॉल अमेरिकी कंपनियों को पेमेंट पोर्टल भी उपलब्ध कराएगा.

गौरतलब है कि अपने चुनाव प्रचार के दौरान डोनाल्ड ट्रंप ने लगातार चीनी कंपनियों पर अमेरिका में नौकरी कम करने का आरोप लगाया है . इसके साथ ही ट्रंप ने राष्ट्रपति पद संभालते ही चीन के प्रोडक्ट्स पर 45 फीसदी इंपोर्ट ड्यूटी लगाने की बात कहते हुए कहा था कि वह अपने कार्यकाल के पहले दिन ही चीन को करेंसी मैन्यूपुलेटर घोषित करने की बात कही थी.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें