scorecardresearch
 

बजट में फिर ठगे गए किसान और मिडिल क्लास लोगः चिदंबरम

चिदंबरम ने सरकार पर किसानों के साथ धोखा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि बीते साल के बजट के बाद किसान ठगे महसूस कर रहे थे. इस बार भी खेती और किसानों के लिए सिर्फ वादे किए गए हैं.

चिदंबरम बोले- राजनीतिक बजट पर हैरत नहीं चिदंबरम बोले- राजनीतिक बजट पर हैरत नहीं

पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के सीनियर नेता पी चिदंबरम ने आम बजट को राजनीतिक बजट करार दिया है. उन्होंने कहा कि बजट में यूपीए सरकार की कई योजनाओं को बनाए रखा गया है. इससे दिखता है कि सरकार के पास नए आइडिया नहीं है. वहीं इस बजट के राजनीतिक होने पर हैरत नहीं है.

किसानों के साथ फिर हुआ धोखा
चिदंबरम ने सरकार पर किसानों के साथ धोखा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि बीते साल के बजट के बाद किसान ठगे महसूस कर रहे थे. इस बार भी खेती और किसानों के लिए सिर्फ वादे किए गए हैं. उत्पादकता और खाद्यान्नों की सुरक्षा, न्यूनतम समर्थन मूल्य वगैरह बढ़ाने पर कोई नई पहल नहीं की गई है.

मध्य वर्ग को टैक्स पर कोई बड़ी राहत नहीं
मोदी सरकार के तीसरे बजट पर चिदंबरम ने कहा कि टैक्स बटोरने में यह सरकार अव्वल है. यह सारी कवायद क्रूड और कॉरपोरेट लॉबी को राहत देने के नाम पर किया गया है. उन्होंने कहा कि टैक्स के दायरे में आने वाले मध्यवर्ग के लिए कोई बड़ी राहत नहीं दी गई है.

महंगाई पर लगाम की कोशिश नहीं
महंगाई पर लगाम की चर्चा करते हुए चिदंबरम ने कहा कि सरकार ने साल 2016-17 के लिए लाए बजट में बढ़ती कीमतों को कम करने के लिए कोई पहल नहीं की है, सिर्फ बड़े वादे किए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें