scorecardresearch
 

बजट 2017: रेल मंत्रालय लगाएया सेफ्टी सेस, बढ़ सकता है रेल का किराया

रेल से सफर करने वाले यात्रियों को अब ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ सकते हैं. रेल मंत्रालय सेफ्टी फंड के लिए 1 लाख 20 हजार करोड़ की राशि जुटाने को लेकर रेल किराए पर सेस लगाने वाला है. ये सेस राष्ट्रीय रेल संरक्षण कोष में जमा होगा.

बजट 2017-18 बजट 2017-18

रेल से सफर करने वाले यात्रियों को अब ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ सकते हैं. रेल मंत्रालय सेफ्टी फंड के लिए 1 लाख 20 हजार करोड़ की राशि जुटाने को लेकर रेल किराए पर सेस लगाने वाला है. ये सेस राष्ट्रीय रेल संरक्षण कोष में जमा होगा.

मिली जानकारी के मुताबिक स्‍लीपर, सेकंड क्‍लास और एसी 3 पर सेस ज्‍यादा लगेगा जबकि एसी 1 और एसी 2 पर यह मामूली रूप से लगाया जाएगा. इस सेस का असर स्लीपर श्रेणी में सफर करने वालों पर ज्यादा पड़ सकता है.

फरवरी की पहली तारीख को पेश किए जाने वाले बजट 2017-18 में वित्त मंत्री अरुण जेटली सेफ्टी सेस को लागू करने और ट्रेन के किराए में इजाफे की घोषणा कर सकते हैं. पिछले महीने रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने जेटली से सेफ्टी फंड की पूरी फंडिंग करने की मांग की थी. जिसे वित्त मंत्रालय ने नामंजूर कर दिया था. मंत्रालय ने केवल 25 फीसदी राषि देने पर रजामंद हुआ था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें