scorecardresearch
 

पैसेंजर गाड़ियों की बिक्री में आई गिरावट, GST कटौती के इंतजार में ग्राहक!

वाहन डीलरों के संगठन फाडा ने कहा कि अगस्त में यात्री वाहनों की खुदरा बिक्री एक साल पहले के इसी माह की बिक्री के मुकाबले 7.12 प्रतिशत घटकर 1,78,513 वाहन रही.

फाडा ने जारी किए आंकड़े फाडा ने जारी किए आंकड़े
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अगस्त में यात्री वाहनों की खुदरा बिक्री 7.12 फीसदी कम हुई
  • जीएसटी कटौती के फैसले के बाद बिक्री में इजाफा हो सकता है
  • बीते दिनों खुद निर्मला सीतारमण ने कटौती के संकेत दिए थे

वाहन डीलरों के संगठन फाडा के मुताबिक अगस्त में यात्री वाहनों की खुदरा बिक्री एक साल पहले के इसी माह की बिक्री के मुकाबले 7.12 प्रतिशत घटकर 1,78,513 वाहन रही. एक साल पहले अगस्त में यात्री वाहनों की खुदरा बिक्री 1,92,189 इकाई रही थी. फाडा को उम्मीद है कि जीएसटी कटौती के फैसले के बाद बिक्री में इजाफा हो सकता है. आपको यहां बता दें कि सरकार जल्द वाहनों पर जीएसटी कटौती का ऐलान कर सकती है. इसके संकेत बीते दिनों खुद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी दिए थे.  

क्या कहते हैं आंकड़े
फाडा देश के 1,450 क्षेत्रीय परिवहन कार्यालयों (आरटीओ) में से 1,242 आरटीओ से वाहन रजिस्ट्रेशन आंकड़े जुटाता है. वहीं अगस्त 2020 में दोपहिया वाहनों की बिक्री 28.71 प्रतिशत घटकर 8,98,775 इकाई रही. अगस्त 2019 में 12,60,722 दोपहिया बिके थे. कॉमर्शियल वाहनों की यदि बात की जाये तो अगस्त में इनकी बिक्री 57.39 प्रतिशत घटकर 26,536 वाहनों की रही. अगस्त 2019 में 62,270 वाणिज्यिक वाहन बिके थे. तिपहिया वाहनों की बिक्री भी इस अवधि में 69.51 प्रतिशत घटकर 16,857 पर रही जबकि एक साल पहले अगस्त में 55,293 तिपहिया बिके थे. कुल मिलाकर सभी तरह के वाहनों की बिक्री अगस्त 2020 में घट गई है. 

फाडा की ओर से क्या बताया गया?

फाडा के अध्यक्ष विंकेश गुलाटी ने कहा, ‘‘सरकार के अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने के लिये लॉकडाउन खोलने के प्रयास जारी रहने से अगस्त के बिक्री आंकड़े इससे पिछले महीने के मुकाबले अच्छे रहे हैं. जो ग्राहक वाहन खरीदने की तैयारी में थे उन्होंने अंतत: जन्माष्टमी और गणेश चतुर्थी त्योहारों में खरीदारी की है. प्रवेश स्तर की यात्री कारों की अच्छी मांग रही. कोरोना वायरस महामारी में लोग अपने खुद के वाहनों को प्राथमिकता दे रहे हैं.’’

गुलाटी ने कहा कि फाडा सरकार से एक बार फिर मांग बढ़ाने के लिये प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा करने का आग्रह करता है. इसके साथ ही उसे दोपहिया वाहनों पर माल एवं सेवाकर कर (जीएसटी) दर घटने की घोषणा की भी प्रतीक्षा है. हम प्रोत्साहन आधारित वाहन कबाड़ नीति की भी काफी समय से प्रतीक्षा कर रहे हैं.’’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें