scorecardresearch
 

हिंद महासागर में इंडियन नेवी की बढ़ती ताकत से PAK परेशान, लगाया ये आरोप

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने भारत पर हिंद महासागर की सुरक्षा पर खतरा पैदा करने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा है कि भारत द्वारा परमाणु शक्ति के विस्तार से हिंद महासागर की में शांति पर उत्पन्न खतरे को लेकर चिंता जताई है.

पाकिस्तानी पीएम के विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज पाकिस्तानी पीएम के विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने भारत पर हिंद महासागर की सुरक्षा पर खतरा पैदा करने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा है कि भारत द्वारा परमाणु शक्ति के विस्तार से हिंद महासागर की में शांति पर उत्पन्न खतरे को लेकर चिंता जताई है.

पाकिस्तान के कराची में एक अंतरारष्ट्रीय स्तर की कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए अजीज ने कहा कि हिंद महासागर में परमाणु परीक्षण से पूरा क्षेत्र अस्थिर होगा, ये खतरा भविष्य में और बढ़ने की संभावना है.

उन्होंने सूचीबद्ध करते हुए विदेशी सेना द्वारा सैन्यीकरण, सामूहिक विनाश के हथियारों के प्रसार, मिसाइल क्षमताओं को बढ़ाना को हिंद महासागर की सुरक्षा के लिए खतरा करार दिया है.

गौरतलब हो कि तीन दिन पहले पाकिस्तान के अखबार 'द डॉन' में लिखा था कि भारत ने एक 'सीक्रेट न्यूक्लियर सिटी' बनाई है. जिसके चलते दक्षिण एशिया में रणनीतिक संतुलन बिगड़ने का खतरा है. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने आरोप लगाया है कि भारत ने परमाणु हथियारों का जखीरा जमा किया है. इतना ही नहीं उनका आरोप है कि भारत ने अंतर-महाद्वीपीय मिसाइलों का परीक्षण भी किया है.

आपको बता दें कि इंस्टीट्यूट ऑफ स्ट्रैटजिक स्टडीज इस्लामाबाद की तरफ से पिछले साल एक रिपोर्ट प्रकाशित की गई थी. जिसमें कहा गया था कि भारत के पास 356 से 492 न्यूक्लियर बम बनाने के लिए पर्याप्त सामग्री और तकनीकी क्षमता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें