scorecardresearch
 

चीन में सत्ता परिवर्तन की तैयारी शुरू

कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) का 18वां राष्ट्रीय अधिवेशन गुरुवार, आठ नवम्बर को शुरू होने जा रहा है, जिसमें देश के नए नेतृत्व का औपचारिक चयन होगा. बेशक नए नेतृत्व को अतीत की एक बड़ी समृद्ध विरासत मिलेगी, लेकिन इसके साथ ही उसके सामने अभूतपूर्व चुनौतियां भी होंगी.

X

कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) का 18वां राष्ट्रीय अधिवेशन गुरुवार, आठ नवम्बर को शुरू होने जा रहा है, जिसमें देश के नए नेतृत्व का औपचारिक चयन होगा. बेशक नए नेतृत्व को अतीत की एक बड़ी समृद्ध विरासत मिलेगी, लेकिन इसके साथ ही उसके सामने अभूतपूर्व चुनौतियां भी होंगी.

चीन की सरकारी समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने बुधवार को एक रिपोर्ट में कहा है कि खासतौर से पिछले दशक की चीन की उपलब्धियां बहुत मूल्यवान हैं. इस बात को यहां तक कि कुछ पश्चिमी मीडिया ने भी स्वीकार किया है.

सिन्हुआ द्वारा जारी 'चाइनाज फ्यूचर लीडरशिप टू इनहेरिट फार्चून, बर्डन' शीर्षक वाले लेख में कहा गया है कि सीपीसी ने दुनिया के सर्वाधिक आबादी वाले देश में कुशल प्रबंधन को अपनाया और चीन को वैश्विक मामलों के केंद्रीय मंच पर ला खड़ा किया.

पिछले दशक में चीन दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया, दुनिया का सबसे बड़ा विनिर्माता और निर्यातक तथा दुनिया में सर्वाधिक विदेशी मुद्रा भंडार वाला देश बन गया.

देश में बढ़ रहा मध्य वर्ग और गरीबी में जीने वालों की संख्या में बेतहाशा कमी, ये सभी बातें सीपीसी की शासन क्षमता की गवाह हैं और यह शासन क्षमता भविष्य में भी विकास के अवसर तैयार करेगी.

यद्यपि औद्योगिकीकरण, शहरीकरण, सूचना क्रांति और कृषि आधुनिकीकरण के मामले में चीन की क्षमता का दोहन होना अभी बाकी है, जैसा कि प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ ने सितम्बर में समर दाओस फोरम में कहा था.

सीपीसी की केंद्रीय समिति के पार्टी स्कूल में वैज्ञानिक समाजवाद के शिक्षण एवं अनुसंधान विभाग में प्रोफेसर, किन गांग ने कहा है कि वैश्विक विकास के साथ बढ़ रहे जुड़ाव के कारण चीन अपनी वृद्धि हासिल करने के लिए बाजारों और संसाधनों का पूर्ण दोहन करने में सक्षम हुआ है, आंतरिक और बाहरी दोनों रूपों में.

उन्होंने कहा कि सर्वागीण क्षमता में सुधार के अलावा चीन ने एक और महत्वपूर्ण प्रतिस्पर्धी अवसर प्रदर्शित किया है. वह यह कि इसके पास खुद से निर्मित ऐसा सम्पूर्ण तंत्र है, जिसके जरिए चुनौतियों का सामना किया जा सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें