scorecardresearch
 

कोयला खदान आवंटन में कोई गड़बड़ी नहीं: श्रीप्रकाश जायसवाल

कोयला खनन क्षेत्रों के आवंटन में निजी और सरकारी कंपनियों को 10.67 लाख करोड़ रुपए का फायदा दिए जाने के संबंध में मीडिया में छपी रिपोर्ट के बीच कोयला मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल ने कहा कि कोयला खदान आवंटन में कोई गड़बड़ी नहीं हुई है.

श्रीप्रकाश जायसवाल श्रीप्रकाश जायसवाल

कोयला खनन क्षेत्रों के आवंटन में निजी और सरकारी कंपनियों को 10.67 लाख करोड़ रुपए का फायदा दिए जाने के संबंध में मीडिया में छपी रिपोर्ट के बीच कोयला मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल ने कहा कि कोयला खदान आवंटन में कोई गड़बड़ी नहीं हुई है.

श्रीप्रकाश जायसवाल ने कहा कि हमने कोयला ब्लॉक के आवंटन के लिए विज्ञापन देकर आवेदन आमंत्रित किए, आवेदन प्राप्त करने के बाद कोयला मंत्रालय ने राज्य सरकारों से परामर्श किया गया और इसके बाद कोयला खनन क्षेत्र आवंटित किए गए.

भारत के नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (कैग) की रिपोर्ट के एक मसौदे के आधार पर मीडिया की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि कोयला ब्लाक की नीलामी न करने के कारण सरकारी खजाने को 10.67 लाख करोड़ रुपए के राजस्व का नुकसान हुआ है. इस रिपोर्ट के संबंध में पूछे जाने पर केंद्रीय कोयला मंत्री ने कहा कि आवंटन कोयला सचिव की अध्यक्षता वाली जांच समिति के जरिए किया जाता है.

यह मामला गुरुवार को संसद में उठा और लोकसभा और राज्य सभा की कार्यवाही बाधित हुई. जायसवाल ने यह भी कहा कि उसे कैग से ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं मिली है. उन्होंने कहा हमें कैग की कोई रिपोर्ट नहीं मिली और हम यह कैसे कह सकते हैं कि इसकी रपट सही है या नहीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें