scorecardresearch
 

ईएनबीए अवार्ड समारोह में हेडलाइंस टुडे का जलवा

टीवी टुडे ग्रुप का अंग्रेजी चैनल 'हेडलाइंस टुडे' तेजी से लोगों के दिलो-दिमाग पर छा रहा है. इसका ताजा सबूत दिल्ली में आयोजित ईएनबीए अवॉर्ड समारोह में देखने को मिला जब आजतक के सहयोगी चैनल हेडलाइंस टुडे को बेहतरीन काम के लिए अलग-अलग कैटेगरी में चार अवॉर्ड मिले.

हेडलाइंस टुडे को चार अवॉर्ड हेडलाइंस टुडे को चार अवॉर्ड

टीवी टुडे ग्रुप का अंग्रेजी चैनल 'हेडलाइंस टुडे' तेजी से लोगों के दिलो-दिमाग पर छा रहा है. इसका ताजा सबूत दिल्ली में आयोजित ईएनबीए अवॉर्ड समारोह में देखने को मिला जब आजतक के सहयोगी चैनल को बेहतरीन काम के लिए अलग-अलग कैटेगरी में चार अवॉर्ड मिले.

दिल्ली में आयोजित प्रतिष्ठित ईएनबीए अवार्ड समारोह में हेडलाइंस टुडे ने एक के बाद एक चार ट्रॉफी अपने नाम कर साबित कर दिया कि जब बात खबरों की हो तो हेडलाइंस टुडे का कोई जवाब नहीं.

2008 से लोकप्रिय मीडिया वेबसाइट एक्सचेंज फॉर मीडिया इंडियन टेलीविजन में बेस्ट टेलेंट को सम्मानित करती आ रही है. शुक्रवार को दिल्ली में जब मीडिया जगत के दिग्गजों की मौजूदगी में पुरस्कारों की घोषणा हुई तो हेडलाइंस टुडे का ही नाम छाया रहा.

इस बार का सबसे प्रतिष्ठित सम्मान बेस्ट एंकर ऑफ द ईयर का अवार्ड हेडलाइंस टुडे के मैनेजिंग एडिटर राहुल कंवल को मिला. राहुल कंवल को ये अवार्ड उनके लोकप्रिय प्रोग्राम सेंटर स्टेज के लिए दिया गया.

दूसरा सबसे बड़ा अवार्ड भी हेडलाइंस टुडे के हिस्से आया जब हेडलांइस टुडे पर दिखाए गए डॉक्यूमेट्री ‘Inside the Killing Fields of Lanka’ ने दो अवार्ड जीते. इस कार्यक्रम को बेस्ट करंट अफेयर्स और बेस्ट न्यूज कवरेज इंटरनेशनल का अवार्ड मिला. हेडलाइंस टुडे ने एक और खिताब अपने नाम किया. इस बार ये खिताब उसके प्रोग्राम ‘Born to Die’ और ‘India’s Abandoned Child’ को मिला.

इस मौके पर इंडिया टुडे ग्रुप के एडिटर इन चीफ अरुण पुरी ने कहा कि मैं काफी खुश हूं कि हेडलाइंस टुडे के काम को सराहना मिली. मैं समझता हूं कि हेडलाइंस टुडे दूसरों से हटकर काम कर रहा है. हेडलाइंस टुडे शोर-शराबे वाली बहस से दूर अलग तरह की पत्रकारिता में यकीन रखता है. हेडलाइंस टुडे का नई खबरों के साथ-साथ खोजी पत्रकारिता पर जोर होता है. मैं खुश हूं कि हेडलाइंस टुडे के इस प्रयास को लोगों ने सराहा. हेडलाइंस टुडे की कामयाबी पर मैं पूरी टीम को बधाई देता हूं, जिन्होंने अपनी लगन और मेहनत से अलग हटकर खबरों की दुनिया में नया मुकाम हासिल किया है.

हेडलाइंस टुडे के मैनेजिंग एडिटर राहुल कंवल ने इस अवसर पर कहा कि हमारी लगातार यही कोशिश है कि हम उस कोलाहल का हिस्सा ना बनें जहां लंबी बहस के नाम पर सिर्फ शोर- शराबा देखने को मिलता है. हम ग्राउंड रिपोर्ट के साथ-साथ खोजी पत्रकारिता पर ज्यादा ध्यान देते हैं. हम आने वाले समय में और बेहतर काम करेंगे और अगले साल यानी 2013 में और ज्यादा अवार्ड जीतने की कोशिश करेंगे.

इस बार स्टार इंडिया के सीईओ उदय शंकर की अध्यक्षता में बनी ज्यूरी ने विजताओं का चयन किया. इस साल अवार्ड के लिए अंग्रेजी, हिंदी और क्षेत्रीय चैनलों की ओर से 400 एंट्री हासिल हुए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें