scorecardresearch
 
ट्रेंडिंग

मृत शख्स होगा जिंदा! डॉक्टर का दावा- हेड ट्रांसप्लांट हो सकता है संभव

मृत शख्स होगा जिंदा! डॉक्टर का दावा- हेड ट्रांसप्लांट हो सकता है संभव
  • 1/5
क्या डॉक्टर एक व्यक्ति का सिर दूसरे की बॉडी पर फिट कर सकते हैं? क्या मेडिकल साइंस में अन्य अंगों की तरह हेड ट्रांसप्लांटेशन भी संभव हो सकता है? ब्रिटेन के एक पूर्व न्यूरोसर्जन और रोबोटिक्स एक्सपर्ट ने इस मुद्दे पर प्रकाश डाला है.
मृत शख्स होगा जिंदा! डॉक्टर का दावा- हेड ट्रांसप्लांट हो सकता है संभव
  • 2/5
ब्रिटेन की हल यूनिवर्सिटी टीचिंग हॉस्पिटल्स के पूर्व क्लिनिकल प्रमुख डॉ. ब्रूस मैथ्यू ने दावा किया है कि अगले 10 सालों में हेड ट्रांसप्लांट संभव हो सकता है. उन्होंने कहा है कि रोबोटिक्स, स्टेम सेल ट्रांसप्लांट्स और नर्व सर्जरी में टेक्नोलॉजी एडवांस होने की वजह से ये संभव हो सकता है.
मृत शख्स होगा जिंदा! डॉक्टर का दावा- हेड ट्रांसप्लांट हो सकता है संभव
  • 3/5
बता दें कि 2017 में एक चीनी साइंटिस्ट ने दावा किया था कि उन्होंने एक सफल हेड ट्रांसप्लांट किया है. जिआओपिंग रेन नाम के साइंटिस्ट ने एक मृत व्यक्ति के सिर को दूसरे मृत व्यक्ति की बॉडी पर ट्रांसप्लांट किया था. चीन के हार्बिन मेडिकल यूनिवर्सिटी में की गई सर्जरी में 18 घंटे लगे थे. सर्जरी के बाद स्पाइन, नर्व्स और ब्लड वेसल्स को रिकनेक्ट कर दिया गया था.
मृत शख्स होगा जिंदा! डॉक्टर का दावा- हेड ट्रांसप्लांट हो सकता है संभव
  • 4/5
डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, डॉ. मैथ्यू ने कहा है कि ट्रांसप्लांट के दौरान अगर ब्रेन और स्पाइनल कॉर्ड को साथ रखा जाए तो यह असंभव नहीं है. अगर ऐसा संभव हो पाता है तो जिन लोगों के शरीर के कई अंग खराब हो चुके हैं या जिनके हाथ या पैर कट गए हैं, उन्हें फायदा हो सकता है. या फिर मर चुके लोगों को भी जिंदगी मिल सकती है.
मृत शख्स होगा जिंदा! डॉक्टर का दावा- हेड ट्रांसप्लांट हो सकता है संभव
  • 5/5
हालांकि, यूरोप और अमेरिका में हेड ट्रांसप्लांट के रिसर्च को नैतिक कारणों से अधिक समर्थन नहीं मिल रहा है. लेकिन चीन में हेड ट्रांसप्लांट को अनुमति दी गई है. वहीं, रूस के एक कंप्यूटर साइंटिस्ट वैलेरी स्पिरिदोनोव ने 2 साल पहले खुद के हेड ट्रांसप्लांट के लिए वॉलेंटियर किया था. वे मांसपेशियों से जुड़ी बीमारी का सामना कर रहे हैं.