scorecardresearch
 

पूरी दुनिया में वीडियो क्वालिटी को कम करने जा रहा है YouTube

YouTube ने दुनियाभर में फैले कोरोना महामारी को ध्यान में रखकर एक महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए कहा है कि कंपनी वीडियो की क्वालिटी को कम करने जा रही है.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

वीडियो स्ट्रीमिंग दिग्गज YouTube ने दुनियाभर में फैले कोरोना महामारी को ध्यान में रखकर एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया है. एक रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी आज से पूरी दुनिया में अपनी वीडियो की क्वालिटी को कम करने जा रही है. कंपनी को उम्मीद है कि इससे महामारी वाले इस हालात में इंटरनेट इंफ्रास्ट्रक्चर पर लोड कम करने में मदद मिलेगी.

इस बदलाव के तहत डिफॉल्ट वीडियो क्वालिटी को स्टैंडर्ड डेफिनिशन या 480p में स्विच किया जाएगा. कंपनी ने ये भी कहा है कि बदलाव के बावजूद भी यूजर्स अगर हाई डेफिनिशन में स्विच करना चाहें तो कर पाएंगे.

ये भी पढ़ें: कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते Realme का इवेंट हुआ पोस्टपोन

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी ने कुछ समय पहले ही इस बदलाव की घोषणा यूरोप में कर दी थी. हालांकि अब इसी पॉलिसी का विस्तार पूरी दुनिया में किया जा रहा है. आपकी जानकारी के लिए बता दें केवल YouTube ही एकमात्र कंपनी नहीं है, जिसने अपनी क्वालिटी में बदलाव का फैसला किया है.

इससे पहले Netflix और Amazon प्राइम ने भी इंटरनेट इंफ्रास्ट्रक्चर पर बढ़ते दबाव को कम करने के लिए अपनी वीडियो की क्वालिटी को कम कर दिया है. ये दबाव इसलिए बढ़ रहा है कि क्योंकि दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में लॉकडाउन की वजह से लोग अपने घरों पर हैं और इससे डेटा कंजप्शन की रफ्तार बढ़ गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें