scorecardresearch
 

स्पेन की हार के बाद कोच फर्नांडो हिएरो ने भविष्य से जुड़े सवाल टाले

भविष्य की भूमिका के बारे में हिएरो ने कहा, ‘मैं इसे लेकर चिंतित नहीं हूं. मुझे नहीं लगता कि फिलहाल इस पर बात करने का समय है.’

Fernando Hierro (Spain) Fernando Hierro (Spain)

स्पेन के कोच फर्नांडो हिएरो ने वर्ल्ड कप प्री-क्वार्टर फाइनल में पेनल्टी शूटआउट में मेजबान रूस के खिलाफ हार के साथ टूर्नामेंट से बाहर होने के बाद कहा कि यह उनके भविष्य पर विचार करने का सही समय नहीं है.

मॉस्को में मुकाबला निर्धारित और अतिरिक्त समय में 1-1 से ड्रॉ रहने के बाद रूस ने पेनल्टी शूटआउट में 4-3 से जीत दर्ज की जिसमें गोलकीपर इगोर एफिनकीव ने कोके और इयागो अस्पास के प्रयासों को नाकाम किया.

टूर्नामेंट की पूर्व संध्या पर युलेन लोपेटगुई को बर्खास्त किए जाने के बाद हिएरो को कोच के रूप में नियुक्त किया गया था. अगले सत्र में रीयाल मैड्रिड के कोच का पद स्वीकार करने के बाद लोपेटगुई को बर्खास्त किया गया था.

भविष्य की भूमिका के बारे में पूछे जाने पर हिएरो ने कहा, ‘मैं इसे लेकर चिंतित नहीं हूं. मुझे नहीं लगता कि फिलहाल इस पर बात करने का समय है.’

स्पेन वर्ल्ड कप से हुआ बाहर तो इस दिग्गज मिडफील्डर ने ले लिया संन्यास

उन्होंने कहा, ‘अब हमें इस मुश्किल लम्हें को साझा करने की जरूरत है. हम सभी इस टूर्नामेंट में शानदार चीजें करना चाहते थे. हम इस असाधारण खिलाड़ियों की पीढ़ी के बारे में बात कर रहे हैं और हम वर्ल्ड कप में उस स्तर का प्रदर्शन नहीं कर पाए जिसकी उम्मीद की जा रही थी.’

हिएरो ने इन सुझावों को खारिज कर दिया कि अगर रूस आने के बाद स्पेन महासंघ लोपेटगुई को बर्खास्त करने का फैसला नहीं करता तो टीम का प्रदर्शन बेहतर हो सकता था.

उन्होंने कहा, ‘हमारे पास इस मैच को जीतने का मौका था, लेकिन हमें पेनल्टी शूटआउट खेलना पड़ा जो लाटरी की तरह है और हम भाग्यशाली नहीं थे.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें