scorecardresearch
 

चोट से उबरे साउथ अफ्रीकी तेज गेंदबाज डेल स्टेन, न्यूजीलैंड के खिलाफ उतरेंगे मैदान पर

साउथ अफ्रीका के तेज गेंदबाज डेल स्टेन तैयार हैं अपनी तूफानी गेंदबाजी के लिए. शुक्रवार से डरबन में न्यूजीलैंड के खिलाफ शुरू होने वाली टेस्ट सीरीज के लिए स्टेन बेहद उत्साहित हैं. इंजरी के कारण वो लंबे समय से टेस्ट क्रिकेट से बाहर थे.

X
डेल स्टेन, तेज गेंदबाज, साउथ अफ्रीका डेल स्टेन, तेज गेंदबाज, साउथ अफ्रीका

साउथ अफ्रीका के तेज गेंदबाज डेल स्टेन तैयार हैं अपनी तूफानी गेंदबाजी के लिए. शुक्रवार से डरबन में न्यूजीलैंड के खिलाफ शुरू होने वाली टेस्ट सीरीज के लिए स्टेन बेहद उत्साहित हैं. इंजरी के कारण वो लंबे समय से टेस्ट क्रिकेट से बाहर थे.

चोट से उबरे स्टेन
स्टेन ने अपना पिछला टेस्ट मैच दिसंबर 2015 में इंग्लैंड के खिलाफ डरबन में ही खेला था. स्टेन एक बार फिर से उसी मैदान पर वापसी के लिए तैयार हैं. पिछले एक साल से स्टेन चोट की समस्या से झूझ रहे थे. लेकिन अब वो तूफानी अंदाज में न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज में वापसी करना चाहते हैं.

न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों पर चलेगी स्टेन'गन'
साउथ अफ्रीका और न्यूजीलैंड के बीच पहला टेस्ट मैच 19 अगस्त से डरबन में शुरू होगा. टेस्ट मैच से पहले उन्होंने कहा, 'मेरे लिए ये वक्त बेहद निराशाजनक था क्योंकि अब तक अपने करियर में मैं कभी भी इस तरह से इतने लंबे समय तक चोटिल नहीं हुआ था. अभी मैं ग्रोएन इंजरी से उबर ही रहा था की कंधा भी चोटिल हो गया. इस दौरान कई लोगों ने कहा कि इन चोटों की वजह मेरी बढ़ती उम्र है लेकिन ये गलत था. उम्र का इससे कोई ताल्लुक नहीं हैं. ज़रा पाकिस्तान के कप्तान मिस्बाह को देखिये, वो 42 साल के हैं और अब भी टेस्ट क्रिकेट खेल रहें हैं.'

पूरी तरह से फिट हैं स्टेन
स्टेन अब पूरी तरह से फिट हो चुके हैं. उन्होंने कहा कि, 'मैदान पर वापसी करने की जल्दबाजी करना एक बड़ी गलती थी.जिसका खामियाजा उन्हें बाहर बैठकर उठाना पड़ा. 'टेस्ट क्रिकेट न सही स्टेन टी-ट्वेंटी में चार ओवर डालकर अपना फॉर्म टेस्ट करते रहे हैं. इस साल वो आईपीएल में गुजरात लायंस, काउंटी क्रिकेट में ग्लेमोर्गन और कैरेबियन प्रीमयर लीग में जमैका के लिए खेले.

स्टेन का टार्गेट बिना पेस खोए 18 ओवर डालना है
स्टेन न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में किसी तरह की कोताही नहीं बरतना चाहते हैं. इसलिए उन्होंने कहा कि 'मेरा पहला टारगेट हर दिन, बिना अपनी पेस खोए, 18 ओवर डालना होगा. 140 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड मेरे लिए ठीक रहेगी, बीच-बीच में 145 या 150 डालने की भी कोशिश करता रहूंगा.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें