scorecardresearch
 

सिंगापुर से लंदन कार से पहुंची फैमिली, नहीं मिले WC मैच के टिकट, ICC ने की मदद

स‍िंगापुर से इंग्लैंड 50 दि‍न में रोड ट्र‍िप से पहुंची माथुर फैम‍िली को उस समय न‍िराशा हुई जब मंगलवार को भारत और न्यूजीलैंड के बीच होने वाले सेमीफाइनल का उन्हें टिकट ही नहीं म‍िला. ऐसे में उनके पास आईसीसी का फोन आया जो बहुत ही अनोखी बात थी.

न्यूजीलैंड में मैच देखती माथुर फैम‍िली (Photo: Facebook) न्यूजीलैंड में मैच देखती माथुर फैम‍िली (Photo: Facebook)

वर्ल्ड कप में इंड‍ियन टीम का सपोर्ट करने स‍िंगापुर से इंग्लैंड रोड ट्र‍िप से पहुंची माथुर फैम‍िली को उस समय न‍िराशा हुई जब मंगलवार को भारत और न्यूजीलैंड के बीच होने वाले सेमीफाइनल का उन्हें टिकट ही नहीं म‍िला. तब उनके साथ एक आश्चर्यजनक घटना हुई ज‍िससे न उन्हें सेमीफाइनल बल्क‍ि फाइनल देखने के भी फैम‍िली के ल‍िए ट‍िकट म‍िल गए.

माथुर फैम‍िली 17 मई को स‍िंगापुर से चलकर 17 देशों के बॉर्डर पार कर 5 जुलाई को इंग्लैंड पहुंची. 6 जुलाई को वे श्रीलंका का मैच देखने के ल‍िए लीड्स पहुंचे जहां यह कन्फर्म हुआ क‍ि अब सेमीफाइनल में भारत का मुकाबला न्यूजीलैंड से 9 जुलाई को मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड  मैदान पर होगा.

इसके बाद अनुपम खुद और अपने 7 साल के बेटे के ल‍िए ट‍िकट खरीदने में कामयाब हो गए लेक‍िन पूरी यात्रा में उनके साथ रहे मां-प‍िता के ल‍िए उन्हें ट‍िकट नहीं म‍िला.   

इससे पहले वर्ल्ड कप ऑर्गेनाइजर और उनकी टीम ने सोमवार को उनकी ट्र‍िप के बारे में पढ़ रखा था. जब वहां की एक मीड‍िया टीम इस पर‍िवार के संपर्क में आई तो इंटरनेशनल क्र‍िकेट काउंस‍िल (ICC) ने उन्हें सेमीफाइनल और रव‍िवार को लंदन के लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड में होने वाले फाइनल की ट‍िकट ऑफर कीं.

अनुपम ने अपने फेसबुक अकाउंट पर मंगलवार को ल‍िखा,"आज सुबह मेरे पास आईसीसी से कॉल आई. शायद उन्होंने मीड‍िया के कुछ आर्टिकल पड़े जो हमारी यात्रा से र‍िलेटेड थे. हमें सेमीफाइनल के ल‍िए 4 हॉस्पि‍टैल‍िटी पास उपलब्ध करा द‍िए. यह मेरे ल‍िए एक बहुत बड़ा ग‍िफ्ट है."

बता दें क‍ि टीम इंड‍िया की हौसला अफजाई करने स‍िंगापुर से इंग्लैंड तक 6 सदस्यों वाली एक फैम‍िली 5 जुलाई को कार से पहुंची थी. 17 मई को स‍िंगापुर से चली यह फैम‍िली 17 देशों के बॉर्डर पार कर 5 जुलाई को लंदन पहुंची. आजतक की ऑनलाइन टीम ने लंदन पहुंचे इस फैम‍िली के सदस्य अनुपम और अद‍ित‍ि माथुर से बातचीत भी की और उनसे इस अद्भुत और रोमांचक यात्रा के बारे में बात भी की थी.

अनुपम माथुर ने बताया था क‍ि फरवरी में जैसे ही वर्ल्ड कप की घोषणा हुई, वैसे ही सोचा क‍ि लंदन जाकर वर्ल्ड कप का फाइनल देखेंगे लेक‍िन बाद में व‍िचार बदल गया और रोमांचक तरीके से कुछ करने की सोची. फ‍िर प्लान बना क‍ि क्यों न कार से स‍िंगापुर से लंदन जाया जाए. यह व‍िचार मन में आते ही इसके बारे में जानकारी जुटानी शुरू की. वीजा और अन्य जरूरी कागजातों के ल‍िए सभी औपचार‍िकताएं पूरी कीं और फ‍िर 17 मई को इस रोमांचक यात्रा पर न‍िकल पड़े.

इस तरह अनुपम और उनके पर‍िवार ने कार से स‍िंगापुर से सफर शुरू करके मलेश‍िया, थाईलैंड, लाओस, चीन, किर्गिस्तान, उज्बेकिस्तान, कजाक‍िस्तान, रूस, फ‍िनलैंड, स्वीडन, डेनमार्क, जर्मनी, बेल्ज‍ियम, नीदरलैंड, फ्रांस, होते हुए इंग्लैंड पहुंचे. इस दौरान वह  17 देशों की यात्रा कर 22,600 क‍िलोमीटर की यात्रा कर चुके हैं.

इस रोमांचक यात्रा में अनुपम माथुर के साथ उनकी पत्नी अद‍ित‍ि, प‍िता अख‍िलेश, मां अंजना, 6 साल  का बेटा अवीव और एक तीन साल की बेटी शाम‍िल हैं. वापसी में वे कार को श‍िप से स‍िंगापुर भेजेंगे और फ्लाइट से वापस स‍िंगापुर पहुंचेंगे. वे 15 जुलाई को वर्ल्ड कप फाइनल देखने के बाद वापस लौटेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें