scorecardresearch
 

2000 साल पुराना हरक्यूलिस का सिर मिला, 122 साल पहले मिली थी सिर्फ धड़ वाली मूर्ति

सदियों पहले समुद्र के तट पर डूबे हुए जहाज से पुरातत्वविदों को बहुत सा खजाना मिला. लेकिन अब जहाज के दूसरे हिस्से से उन्हें 2000 साल पुरानी हरक्यूलिस की मूर्ति का सिर भी मिल गया है.

X
हरक्यूलिस की मूर्ति का खोया हुआ सिर मिला (Photo: Nikos Giannoulakis/antikythera shipwreck) हरक्यूलिस की मूर्ति का खोया हुआ सिर मिला (Photo: Nikos Giannoulakis/antikythera shipwreck)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बिना सिर वाली मूर्ति 1900 में मिली थी
  • अब मिला हरक्यूलिस की मूर्ति का सिर

ग्रीस (Greece) के चट्टानी तटों से दूर, समुद्र में डूबे हुए एक जाने-माने प्राचीन जहाज से कलाकृतियों का खजाना मिला है. खजाने में संगमरमर का एक सिर भी मिला है, जिसे हरक्यूलिस (Hercules) का बताया जा रहा है. हरक्यूलिस प्राचीन ग्रीक और रोमन पौराणिक कथाओं का नायक है. इसके साथ ही जहाज से कुछ मानव अवशेष भी मिले हैं.

एंटीकीथेरा (Antikythera) मलबा, एक रोमन-युग का जहाज है जो करीब 60 ईसा पूर्व का है. यह क्रेते (Crete) के उत्तर-पश्चिम में समुद्र के किनारे पर है. यह जहाज इसलिए प्रसिद्ध है क्योंकि इसी से दुनिया के सबसे पुराने एनालॉग कंप्यूटर, एंटीकीथेरा मैकेनिज़्म (Antikythera mechanism) के अवशेष पाए गए थे. 

Hercules Head
मलबे से मिला मूर्ति का आधार (Photo: Nikos Giannoulakis/archaeology)

गोताखोरों ने इस मलबे को पहली बार 1900 में खोजा था. समुद्री पुरातत्वविदों ने हाल ही में अपनी बेहद सफल खोज अभियान के नतीजों के बारे में बताया. उन्होंने कहा कि इसकी शुरुआत एक बड़ी चट्टान को हटाने के साथ हुई, जिससे जहाज़ के मलबे के ऐसे हिस्से तक पहुंचा जा सका अब तक कोई नहीं पहुंचा था.

इस खोज में उन्हें एक मूर्ति का आधार मिला जिसमें पैरों के हिस्से दिख रहे थे. लेकिन ये किसी चट्टान जैसा नजर आ रहा था, क्योंकि इसपर समुद्री चीजों की एक मोटी परत चढ़ी हुई थी. उन्हें दाढ़ी वाले एक व्यक्ति की संगमरमर की मूर्ति का सिर भी मिला. उनका मानना है कि यह 'हेराक्लीज़ ऑफ़ एंटीकीथेरा' (Herakles of Antikythera) नाम की बिना सिर वाली मूर्ति का सिर है, जिसे पहली बार 1900 में पानी से निकाला गया था.

Hercules Head
हरक्यूलिस की मूर्ति का खोया हुआ सिर (Photo:Orestis Manousos)

उन्होंने दो मानव दांत भी मिले हैं. पुरातत्वविद इस बात से उत्साहित हैं कि इन दांतों के जेनेटिक और आइसोटॉपिक विश्लेषण से उन लोगों के बारे में और जानकारी मिलेगी जो करीब 2,000 साल पहले इस जहाज पर सवार थे.

2016 में, 2000 साल पुराना मानव कंकाल, जिसका नाम पैम्फिलोस था, जहाज के मलबे में पाया गया था. शोधकर्ताओं को इस मलबे से मूर्तियां, गहनों से लेकर एंटीकीथेरा मैकैनिज़्म तक सभी तरह की चीजें मिलीं. इन्हें देखकर लगता है कि यह एक ट्रेड शिप था. 

 

पुरातत्वविदों की मानें तो ये जहाज 40 मीटर लंबा था, जो शायद पूर्वी भूमध्यसागर से रोम की ओर यात्रा कर रहा था. तूफान की वजह से यह चट्टानों से टकरा गया और अपने गंतव्य तक पहुंच नहीं सका.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें