scorecardresearch
 
साइंस न्यूज़

ध्रुव हेलिकॉप्टर के डेक ऑपरेशन्स सफल, भारतीय कोस्ट गार्ड की ताकत बढ़ी

ALH Dhruv Demonstrates Deck Operations
  • 1/5

भारतीय कोस्ट गार्ड की ताकत में 29 अप्रैल यानी आज इजाफा हो गया है. अब चलते हुए कोस्टगार्ड शिप पर एडवांस्ड लाइट हेलिकॉप्टर ध्रुव एमके-3 एमआर (ALH Dhruv Mk III MR) ने डेक ऑपरेशंस सफलतापूर्वक करके दिखाए. इस दौरान हेलिकॉप्टर ने लैंडिंग की, उसके ब्लेड्स मोड़े गए, चलते हुए जहाज के ऊपर होवर करता रहा और ऑनबोर्ड हैंगर में प्रवेश किया. (फोटोः HAL)

ALH Dhruv Demonstrates Deck Operations
  • 2/5

हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) द्वारा बनाए गए ALH Dhruv हेलिकॉप्टर को हाल ही में भारतीय कोस्ट गार्ड (Indian Coast Guard) को सौंपा गया था. HAL भारतीय कोस्टगार्ड को कुल 16 ALH Dhurv हेलिकॉप्टर देगा. यह ट्रायल चेन्नई के तट के पास समुद्र के बीच किए गए. इस हेलिकॉप्टर में अत्याधुनिक और भरोसेमंद शक्ति इंजन लगे हैं. साथ ही इसका कॉकपिट पूरा ग्लास का है. जिससे पायलट दूर तक और तीन तरफ नजर रख सकता है. (फोटोः HAL)

ALH Dhruv Demonstrates Deck Operations
  • 3/5

HAL के सीएमडी आर. माधवन ने कहा कि ALH Dhruv ने डेक ऑपरेशंस करके यह बता दिया कि समुद्र में चल रहे मिशन के दौरान यह किसी भी तरह प्रोजेक्ट में शामिल हो सकता है. चाहे वह निगरानी मिशन हो, जासूसी हो, सर्च हो या रेस्क्यू ऑपरेशंस हों. आज उसने जो प्रदर्शन किया है उससे यह बात स्पष्ट हो गई है कि यह हेलिकॉप्टर किसी भी तरह के मिशन के लिए तैयार है. (फोटोः HAL)

ALH Dhruv Demonstrates Deck Operations
  • 4/5

Dhruv Mk III MR हेलिकॉप्टर में अत्याधुनिक सर्विलांस राडार लगा है. ये एकसाथ 120 नॉटिकल माइल्स यानी 222 किलोमीटर की दूरी तक के जहाजों और नावों का पता लगा सकता है. इस हेलिकॉप्टर के जरिए भारतीय कोस्ट गार्ड के जवान देश की समुद्री सीमाओं की सुरक्षा आसानी से कर सकेंगे. इसमें इलेक्ट्रोऑप्टिकल सेंसर्स लगे हैं 30 नॉटिकल माइल्स यानी 56 किलोमीटर की दूरी तक छोटी नावों का भी पता लगा सकते हैं. (फोटोः HAL)

ALH Dhruv Demonstrates Deck Operations
  • 5/5

Dhruv Mk III MR हेलिकॉप्टर में विदेशी सेनाएं भी रुचि ले रही हैं. HAL ने इक्वाडोर की वायुसेना को 5 हेलिकॉप्टर दिए थे. इसके बाद इक्वाडोर की सेना और नौसेना ने भी इसे खरीदने की इच्छा जाहिर की थी. इजरायल ने नागरिक उपयोग के लिए भी ध्रुव हेलिकॉप्टर भारत से लीज पर लिए हैं. इस हेलिकॉप्टर में इलेक्ट्रॉनिक वॉरफेयर सुइट, वार्निंग सिस्टम, ऑटोमैटिक चैफ एंड फ्लेयर डिस्पेंसर और संवर्धित वाइब्रेशन कंट्रोल सिस्टम लगा है. (फोटोः HAL)