scorecardresearch
 

शंखनाद

होगी फ्लोर टेस्ट की मांग, महाराष्ट्र में बढ़ेगा घमासान? देखिए

27 जून 2022

महाराष्ट्र में सियासी घमासान जारी है. शिवसेना पर अधिकार की लड़ाई है. सत्ता के सिंहासन की जंग है और अब ये जंग फ्लोर पर आ चुकी है. अब फ्लोर पर तय होगा कि किसमे कितना दम है. इस ही बीच शिवसेना के एक और विधायक के शिंदे गुट में शामिल होने की खबर आई है. महाराष्ट्र के सियासी संकट के बीच बैठकों का दौर भी जारी है. मातोश्री में एनसीपी की बैठक हुई तो वहीं फडणवीस के घर पर बीजेपी की बैठक हुई है. क्या फ्लोर टेस्ट की मांग होने के बाद महाराष्ट्र में घमासान और बढ़ जाएगा? चित्रा त्रिपाठी के साथ देखिए शंखनाद.

धमकियां हुई आम, अब सड़क पर संग्राम! देखें शंखनाद

26 जून 2022

शिवसेना के नेता संजय राउत ने बागी विधायकों पर हमला बोला है. एक कार्यक्रम में संजय राउत ने विवादित बयान देते हुए कहा कि गुवाहाटी में जो हैं वे जिंदा लाश हैं. गुवाहाटी से सीधे 40 विधायकों का शव मुंबई आएगा, जिसे पोस्टमार्टम के लिए विधानसभा भेजेंगे. इस बीच आदित्य ठाकरे ने फिल्मी अंदाज में बागियों को चेतावनी दी है. आदित्य ठाकरे ने शाहरुख खान का डायलॉग मारते हुए कहा है कि हम शरीफ क्या हुए दुनिया बदमाश हो गई. सईद अंसारी के साथ देखिए शंखनाद.

बीजेपी ने शुरू किया सरकार बनाने का खेल! देखिए शंखनाद

25 जून 2022

महाराष्ट्र में इन दिनों जिस तरह का बवंडर मचा है उसे देखकर कोई भी कह सकता है बाप रे बाप. महाराष्ट्र में बीजेपी ने सरकार बनाने की कवायद शुरु कर दी है. सूत्रों से खबर है कि देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे की मुलाकात हुई है. रात ढाई से साढ़े चार बजे के बीच दोनों की मुलाकात वड़ोदरा में हुई है. महाराष्ट्र की लड़ाई अब बाप तक आ गई है. संजय राउत ने कहा है कि शिंदे गुट अपने बाप के नाम पर क्यों नहीं पार्टी तैयार करती तो शिंदे गुट की ओर से शिवसेना को जवाब दिया गया है. अर्पिता आर्या के साथ देखिए शंखनाद.

शिवसेना के किस खेमे में कितने आदमी? देखिए शंखनाद

24 जून 2022

महाराष्ट्र की राजनीति में सियासी शोले भड़के हुए हैं और शोले से ही ख्याल आया कि 1975 में एक फिल्म आई थी, अमिताभ बच्चन, धर्मेंद्र और अमजद खान अभिनीत फिल्म शोले. शोले फिल्म का एक मशहूर डायलॉग था- कितने आदमी थे? उस डायलॉग को आजतक ने मौजूदा हालात में ढालकर कर दिया है कि कितने आदमी हैं? ये वो सवाल है जो महाराष्ट्र की सियासत में रुचि रखने वाला हर आदमी पूछ रहा है. ठाकरे गुट अपने आदमी गिना रहा है और शिंदे गुट उनके आदमी. सवाल तनकर खड़ा है कि शिवसेना के किस खेमे में कितने आदमी हैं? चित्रा त्रिपाठी के साथ देखिए शंखनाद.

पवार का पावर क्या बचा पायेगा उद्धव ठाकरे की सरकार? देखें शंखनाद

23 जून 2022

किसी को कानों कान खबर तक नहीं लगी और एकनाथ शिंदे ने इतनी बड़ी बगावत कर दी. आलम ये है कि महाराष्ट्र की राजनीति में भूचाल मचा है. महाराष्ट्र में सियासी माहौल फिलहाल तो अघाड़ी सरकार के खिलाफ है. ये ताकत का तकाजा है कि बगावत के बाद शिंदे ने आज गुवाहाटी से ही उद्धव ठाकरे के नाम एक खुली चिट्ठी जारी कर उन्हें ललकार भी लगा दी. शिवसेना की आपसी लड़ाई ने आशंकाओं का आकाश रच दिया है, जिसमें सवाल ही सवाल है. लेकिन सबसे बड़ा सवाल तो ये है कि महाराष्ट्र में अब होगा क्या, उद्धव ठाकरे इस्तीफा देंगे या किसी भी तरह से शिंदे को मना लेंगे? देखें शंखनाद.

एक तरफ ठाकरे, दूसरी ओर शिंदे... किसकी होगी शिवसेना? देखें शंखनाद

22 जून 2022

शिवसेना अब दो फाड़ में बंट चुकी हैं. एक गुट उद्धव ठाकरे का है तो वहीं दूसरा गुट शिंदे का है. लेकिन सवाल ये कि शिवसेना किसकी हैं? क्योंकि अब उद्धव गुट के फरमान को शिंदे गुट नकार रहा है. वहीं ये भी कह रहा है कि वो शिवसेना छोड़ने वाले नहीं. महाराष्ट्र में सियासी घमासान के बीच आज कैबिनेट की मीटिंग हुई. मीटिंग में सीएम के इस्तीफे या विधानसभा भंग करने का कोई प्रस्ताव नहीं आया. इसके साथ-साथ मीटिंग के अंत में उद्धव ठाकरे ने यह भी कहा कि हम देखते हैं कि आगे क्या होगा. इसमें उद्धव ठाकरे सरकार के 8 मंत्री नहीं हुए पहुंचे. इस पूरे खेल में सबसे बड़े खिलाड़ी बनकर सामने आए हैं एकनाथ शिंदे, जिन्होंने अब अपने साथ विधायकों की संख्या 46 से ज्यादा बता दी है. देखें शंखनाद.

उद्धव सरकार में मचा हाहाकार, क्या करेंगे शरद पवार? देखिए शंखनाद

21 जून 2022

महाराष्ट्र की सियासत में जबरदस्त हलचल मची हुई है. मुंबई में उद्धव ठाकरे ने शिंदे समर्थक तीन विधायकों के साथ मुलाकात की. इसके अलावा शिवसेना के विधायकों के साथ उद्धव ठाकरे ने बैठक की. इस बैठक में शिवसेना के 22 विधायक शामिल हुए. यहां तय किया गया कि एकनाथ शिंदे को नेता पद से हटाया जाता है. इस प्रस्ताव वाली चिट्ठी में पर 22 विधायकों ने हस्ताक्षर किया. मगर महाराष्ट्र की सियासत में एकनाथ शिंदे के बागे होने के चलते मंगलवार को और भी बहुत कुछ हुआ है. चित्रा त्रिपाठी के साथ शंखनाद में देखिए पूरी रिपोर्ट.

'अग्निपथ' के विरोध में जिन्होंने आग लगाई क्या अब उनकी शामत आई?

20 जून 2022

14 जून को अग्निपथ योजना का ऐलान हुआ और तब से ही देश में घमासान मचा है. सबसे पहले तो आर्मी की तैयारी कर रहे छात्रों ने योजना के विरोध में हंगामा किया और फिर वो हंगामा आगजनी बवाल और तोड़फोड़ में परिवर्तित हो गया. अब जब सुरक्षा सख्त की गई तो हंगामा तो नहीं हो रहा है, मगर सियासी घमासान मचा है. जगह-जगह सुरक्षाबल तैनात हैं और जाम से लोगों का बुरा हाल हो रहा है. हिंसा के बाद बिहार में हालात काबू में हैं इसलिए कई शहरों में इंटरनेट सेवाएं रोक दी गईं हैं. किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए सुरक्षाबल तैयार है. अब पुलिस भी प्रदर्शन के नाम पे हिंसा करने वालों पर एक्शन के लिए तैयार है. चित्रा त्रिपाठी के साथ देखिए शंखनाद.

क्या हिंसा करके युवा बनेंगे अग्निवीर? देखें शंखनाद

19 जून 2022

सरकार की अग्निपथ योजना को लेकर दो दिन के भीतर दो समीक्षा बैठक हुईं. 14 जून से लेकर अबतक योजना में कई तरह के बदलाव कर दिए गए, बावजूद इसके देश में अग्निपथ योजना को लेकर मचा हंगामा थम नहीं रहा. आज एक बार फिर से रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने तीनों सेनाओं के साथ बैठक की, और फिर उसके बाद तीनों सेनाओं की ओर से साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस करके अग्निपथ योजना को लेकर उठाए जा रहे भ्रमों के खिलाफ योजना के फायदे गिनाए. सेना के जनरल ने साफ किया कि कितना भी हंगामा हो लेकिन सरकार ये स्कीम वापस नहीं लेगी. जिसपर अब जमकर सियासत हो रही है. अग्निपथ स्कीम पर हुई साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस पर देखें शंखनाद.

मसौढ़ी में कहां से आई 2000 लोगों की भीड़? देखें शंखनाद

18 जून 2022

अग्निपथ पर संग्राम जारी हैं. शनिवार को भी एक बार फिर देश के अलग-अलग हिस्सों से हिंसक प्रदर्शन की तस्वीर सामने आईं हैं. कहीं आगजनी हुई तो कहीं पथराव किया गया. सरकार की इस स्कीम पर युवाओं का गुस्सा आउट आफ कंट्रोल हो चुका है. सबसे बुरा हाल बिहार का है जहां चार दिन से उग्र प्रदर्शन जारी है. इस बीच बीजेपी के कई नेताओं को निशाना बनाया गया जिसे लेकर सियासत भी तेज हो गई है. अग्निपथ स्कीम के विरोध के चलते बिहार में हालात बेकाबू होते जा रहे हैं. अंजना ओम कश्यप के साथ देखिए शंखनाद.  

अग्निपथ' पर शहर-शहर क्यों 'गदर'? देखें शंखनाद

17 जून 2022

सेना के तीनों अंगों में युवाओं की भर्ती के लिए लॉन्च की गई अग्निपथ योजना का देश के कई शहरों में विरोध हो रहा है. अग्निपथ स्कीम को लेकर विरोध प्रदर्शन शुक्रवार को और भी तेज हो गया है. बिहार के बाद यह बवाल हरियाणा के गुरुग्राम और राजस्थान तक फैल गया है. युवा अग्निपथ स्कीम को वापस लेने की मांग कर रहे हैं. स्कीम के विरोध में कई जगह आगजनी हुई है, रेल मार्ग-सड़क मार्ग को रोका गया है. इसके अलावा पथराव की भी खबरें हैं. सवाल ये है कि आखिर कब ये हिंसा और संग्राम शांत होगा? चित्रा त्रिपाठी के साथ देखें शंखनाद.

कहीं ट्रेन जलाई, कहीं तोड़फोड़, अग्निपथ को लेकर देश भर में हंगामा, देखें शंखनाद

16 जून 2022

अग्निपथ के नाम पर आक्रोशित युवाओं ने अंगारे बरसाए हैं,अग्निपथ योजना में युवा को चार साल के लिए सेना में भर्ती किया जाएगा, सरकार और खुद सेना के अधिकारी इस योजना के फायदे गिना रहे हैं. मगर देश के अलग अलग शहरों में इस योजना के खिलाफ उपद्रव, बवाल और आगजनी की जा रही है, कहीं ट्रेन फूंक दी गई, तो कहीं गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई, सबसे ज्यादा हिंसा बिहार में हुई. एक ओर सड़क पर अग्निपथ पर संग्राम है तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस कार्यकर्ता राहुल से ईडी की पूछताछ के खिलाफ सड़कों पर उतरे हुए हैं. आज देश के अलग अलग शहरों में कांग्रेस ने राजभवन का घेराव किया जिसे लेकर जमकर हंगामें की तस्वीर सामने आई. कल शुक्रवार है, जुमा है, लेकिन ये जुमा यूपी सरकार के लिए चुनौती लेकर आया है. देखें शंखनाद.

राष्ट्रपति चुनाव पर विपक्ष का मंथन, बिश्नोई अब पंजाब पुलिस की कस्टडी में

15 जून 2022

आज शरद पवार की अगुवाई में विपक्षी दलों की बैठक हुई. बैठक में शरद पवार ने खुद के राष्ट्रपति की उम्मीदवारी से इनकार कर दिया है, जिसके बाद इसके बाद ममता बनर्जी ने गोपाल कृष्ण गांधी और फॉरूख अब्दुल्ला का नाम आगे किया. हालांकि बेटे उमर अब्दुल्ला ने फॉरूख के नाम पर चर्चा ना करने की बात कही, जिसके बाद एक नाम एन प्रेम चंद्रन का भी सामने आया, लेकिन अभी किसी नाम पर आम सहमति नहीं बन पाई है. मूसेवाला हत्याकांड की मौत का सच पूरा देश जानना चाहता है और इस सच की सबसे अहम कड़ी गैंग्सटर लॉरेंस बिश्नोई है, जिसे हत्याकांड का मास्टरमाइंड माना जा रहा है. लॉरेंस से दिल्ली पुलिस के बाद अब पंजाब पुलिस को पूछताछ करनी हैं. दिल्ली पुलिस लॉरेंस से अब तक कुछ खास नहीं उगलवा सकी. ऐसे में पंजाब पुलिस ने लॉरेंस से सच उगलवाने के लिए कुछ खास तैयारी की है. देखें शंखनाद.

राहुल का ED के सवालों से सामना, ममता-अभिषेक पर CBI की कार्रवाई, देखें शंखनाद

14 जून 2022

राहुल गांधी तो ईडी के सवालों का सामना करने के लिए ईडी दफ्तर के अंदर चले गए, मगर इधर दिल्ली की सड़कों पर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने हंगामा मचा दिया. जगह जगह कांग्रेस के कार्यकर्ता और दिग्गज नेताओं की पुलिस से भिड़ंत हुई, कई जगह पुलिस ने कांग्रेस नेताओं को हिरासत में लिया. वहीं दूसरी ओर आज ममता बनर्जी के भतीजे के घर आज सीबीआई पहुंच गई. सीबीआई की इस कार्रवाई की टाइमिंग पर सवाल खड़े हो रहे हैं क्योंकि जिस कल ममता राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विपक्ष के साथ बड़ी बैठक करने वाली हैं. गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई की कस्टडी को लेकर पंजाब पुलिस एक्टिव हो गई है. पटियाला हाउस कोर्ट में मंगलवार पंजाब पुलिस की कई बख्तरबंद गाड़ियां पहुचीं. देखें शंखनाद.

शंखनाद: राहुल पर ED का शिकंजा, प्रयागराज में बुलडोजर कार्रवाई पर सियासी लड़ाई

13 जून 2022

राहुल गांधी से पहले राउंड में भी ईडी ने करीब तीन घंटे तक पूछताछ की थी, पूछताछ के बाद राहुल को लंच का समय दिया गया जिसमें वो अपनी मां सोनिया गांधी से मिलने गंगाराम अस्पताल पहुंचे थे. इधर दिल्ली में तो हंगामा बरपा था, मगर देश के अलग अलग हिस्सों में भी यही हाल था. अलग अलग शहरों में कांग्रेस के नेताओं ने जोरदार प्रदर्शन किया. कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार जांच एजेंसी के जरिए कांग्रेस को डराने की कोशिश कर रही है. प्रयागराज में पहले पत्थर चले, फिर चला बुलडोजर और अब बुलडोजर वाली कार्रवाई पर सियासी लड़ाई शुरू हो गई है. विपक्षी नेता, हिंसा के मास्टरमाइंड जावेद के घर पर बुलडोजर वाली कार्रवाई पर सवाल उठा रहे हैं. इसे कानून को ताक पर रखकर बदले वाली कार्रवाई बता रहे हैं. देखें शंखनाद.