scorecardresearch
 

Urine Color: यूरिन का बिल्कुल क्लियर दिखना इन गड़बड़ियों का संकेत, शराब पीने वाले हो जाएं चौकन्ना!

यूरिन के कलर से व्यक्ति की सेहत के बारे में जानकारी मिलती है. बहुत से मामलों में यूरिन के कलर से इस बात का पता चलता है कि आप भरपूर मात्रा में पानी पी रहे हैं या नहीं. वहीं, अगर क्लियर यूरिन की बात करें तो यह इस बात का संकेत देता है कि आप बहुत अधिक पानी का सेवन करते हैं और आपका शरीर पूरी तरह से हाइड्रेटेड है. लेकिन बहुत से मामलों में शराब पीने के बाद भी यूरिन का कलर क्लियर नजर आता है. ऐसे में आइए जानते हैं ऐसा क्यों होता है और इसका क्या कारण है.

X
प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credit : Getty Images) प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credit : Getty Images)

ऐसी बहुत सी चीजें हैं जिनके सेवन से आपके यूरिन का कलर चेंज हो सकता है लेकिन हार्वर्ड हेल्थ पब्लिशिंग के मुताबिक, कभी कभी किसी बीमारी के कारण भी यूरिन का कलर चेंज हो सकता है. ऐसे में जरूरी है कि आप डॉक्टर को दिखाएं. शरीर हाईड्रेटेड होने पर यूरिन का कलर ट्रांसपेरेंट और हल्के पीले रंग का होता है. लेकिन अगर आपके यूरिन का कलर बिल्कुल क्लियर है तो इसका मतलब है कि आप पानी का सेवन काफी ज्यादा मात्रा में कर रहे हैं और जरूरी है कि आप इसका सेवन थोड़ा कम करें. 

जब आप सुबह उठते ही यूरिन पास करते हैं तो इसका कलर काफी ज्यादा पीला नजर आता है. इसका मतलब होता है कि शरीर के सभी विषैले पदार्थ बाहर निकल गए हैं. लेकिन अगर आपका सुबह का पहला यूरिन एकदम क्लियर नजर आता है तो इसका मतलब है कि आप जरूरत से ज्यादा पानी का सेवन करते हैं. इससे आपके शरीर के इलेक्ट्रोलाइट लेवल पर काफी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है जिससे आप बीमार भी पड़ सकते हैं. इसे ठीक करने के लिए जरूरी है कि आप पानी का सेवन थोड़ा कम करें.

इसके अलावा और भी कई कारण हैं जिसके चलते बहुत अधिक मात्रा में पानी ना पीने के बावजूद भी आपके यूरिन का कलर क्लियर नजर आ सकता है. डायबिटीज इंसिपिडस एक असामान्य विकार है जिसके कारण शरीर में फ्लूइड का लेवल अनियंत्रित हो जाता है. इसमें व्यक्ति को बहुत ज्यादा प्यास लगती है और बार-बार पेशाब आता है. डायबिटीज इंसिपिडस का एक लक्षण यूरिन का क्लियर कलर है. 

क्लियर यूरिन और शराब का सेवन

यूरोलॉजी केयर फाउंडेशन में कहा गया है कि ड्यूरेटिक मेडिकेशन (ऐसी दवाइयां जिन्हें खाने से पेशाब बार-बार आता है) के कारण भी बार-बार यूरिन की समस्या का सामना करना पड़ता है. साथ ही इसके कारण यूरिन का कलर क्लियर नजर आता है. नेशनल एसोसिएशन फॉर कॉन्टिनेंस में बताया गया है कि शराब का भी ड्यूरेटिक इफेक्ट होता है. शराब का सेवन करने से यूरिन ज्यादा होने लगता है और बार-बार यूरिन रिलीज करने से यूरिन का कलर क्लियर नजर आने लगता है. यूएस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन ने ज्यादा पेशाब करने और शराब के बीच लिंक की पुष्टि की है.

एडल्ट्स के लिए, ज्यादा यूरिन का मतलब एक दिन में 2.5 लीटर यूरिन का शरीर से बाहर निकलना है. आपके यूरिन का आउटपुट कम या ज्यादा हो सकता है क्योंकि यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप दिनभर में कितना पानी पी रहे हैं. 

अगर आपके शरीर में कैल्शियम का लेवल कम या ज्यादा है तो भी आपको बहुत अधिक यूरिन पास करने और क्लियर यूरिन की समस्या का सामना करना पड़ता है.

शराब और कैफीन का एक साथ सेवन करने से भी यूरिन की मात्रा में बढ़ोतरी होती है, साथ ही इसके चलते आपके यूरिन का कलर भी क्लियर नजर आता है.

क्या कहता है यूरिन कलर चार्ट

पेल येलो- मार्शफील्ड क्लिनिक के मुताबिक,अगर आपके यूरिन का कलर हल्के पीले रंग का है तो इसका मतलब होता है आप अच्छी तरह से हाइड्रेटेड हैं. 

डार्क येलो- अगर आपके यूरिन का कलर डार्क येलो है तो इसका मतलब है कि आपको डिहाईड्रेशन का खतरा काफी ज्यादा है और आपको अधिक मात्रा में पानी का सेवन करना चाहिए. 

यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफॉर्निया सैन डिआगो हेल्थ के मुताबिक, ऑरेंज यूरिन भी तीन प्रकार का होता है.  लाइट ऑरेंज कलर का यूरिन यह दर्शाता है कि आपको जल्द ही डिहाइड्रेशन होने वाला है. लेकिन लीवर से जुड़ी कुछ दिक्कतों के चलते भी यूरिन का कलर लाइट ऑरेंज कलर का नजर आ सकता है. कुछ दवाइयों का सेवन करने पर आपके यूरिन का कलर डार्क ऑरेंज नजर आ सकता है. जार्क ऑरेंज यूरिन या ब्राउन कलर का यूरिन गंभीर डिहाईड्रेशन और पीलिया की समस्या को दर्शाता है. 

पिंक और रेड- कुछ चीजों जैसे ब्लूबेरीज, चुकंदर आदि का सेवन करने से आपके यूरिन का कलर लाल या पिंक नजर आ सकता है. लेकिन अगर पिंक और लाल दिखने के साथ ही आपके यूरिन में ब्लड भी आ रहा है तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए. 

नीला और हरा- यूरिन का नीला और हरा दिखना किसी खास दवाई के कारण हो सकता है. जबकि, क्लाउडी व्हाइट यूरिन ब्लड. मवाद या वजाइनल म्यूकल का संकेत हो सकता है. वैसे तो यूरिन में झाग दिखना कोई गंभीर समस्या नहीं है लेकिन अगर ऐसा लगातार हो रहा है तो इसका मतलब है कि आपके शरीर में प्रोटीन की मात्रा काफी ज्यादा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें