scorecardresearch
 

आतंक का रास्ता छोड़ सेना में भर्ती हुए नजीर को मिला अशोक चक्र

आतंक का रास्ता छोड़ सेना में भर्ती हुए नजीर को मिला अशोक चक्र

गणतंत्र दिवस के दिन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सेना के लांस नायक नसीर वानी को मरणोपरांत अशोक चक्र से सम्मानित किया. राष्ट्रपति ने यह पुरस्कार नसीर वानी की पत्नी और उनकी मां को सौंपा गया. पिछले साल आतंकवादियों से लड़ते हुए नसीर वानी कश्मीर में शहीद हो गए थे.  नसीर वानी आतंकवाद का रास्ता छोड़कर सेना में भर्ती हुए थे. देखें वीडियो.

Lance Naik Nazir Ahmed Wani, who lost his life while killing 6 terrorists in an operation in Kashmir, awarded the Ashok Chakra. Award was received by his wife and mother. The award Indias highest peacetime gallantry honour, was received by Wani wife and mother at the Republic Day celebrations at Rajpath. Wani is the first Kashmiri to be conferred the Ashoka Chakra.On November 25, 38-year-old Wani, hailing from Cheki Ashmuji in Kulgam district of Jammu and Kashmir, lost his life in a counter-terror operation against six terrorists in Hirapur village near Batgund in Shopian.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें