scorecardresearch
 

मुकुल रॉय का आरोप- TMC वर्करों ने की 35 RSS-BJP कार्यकर्ताओं की हत्या

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) कार्यकर्ताओं पर हत्या का आरोप लगाया. मुकुल रॉय ने कहा कि पिछले दो दिनो में बीजेपी और आरएसएस के 8 कार्यकर्ताओं की हत्या की गई.

बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय (फाइल फोटो-ANI) बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय (फाइल फोटो-ANI)

  • बीजेपी नेता मुकुल रॉय ने TMC पर साधा निशाना
  • BJP-RSS कार्यकर्ताओं की हत्या पर उठाए सवाल
  • TMC कार्यकर्ताओं पर लगाया हत्या का आरोप

  • नहीं रुक रहा राजनैतिक हत्याओं का सिलसिला

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) कार्यकर्ताओं पर हत्या का आरोप लगाया. मुकुल रॉय ने कहा कि पिछले दो दिनो में बीजेपी और आरएसएस के 8 कार्यकर्ताओं की हत्या की गई.

मुकुल रॉय ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद से अभी तक टीएमसी कार्यकर्ताओं ने 35 बीजेपी और आरएसएस के कार्यकर्ताओं की हत्या की. बंगाल में लोकतंत्र की हत्या हो रही है और राजनैतिक हत्याओं का सिलसिला रुक नहीं रहा है.

मुकुल रॉय ने कहा कि अगर टीएमसी के नेता और मंत्री ये कह रहें हैं कि हत्याओं में राजनैतिक षड्यंत्र नहीं हैं तो उन्हें ये मानना चाहिए कि बंगाल की कानून व्यवस्था बहुत ख़राब है. इतनी कानून व्यवस्था खराब होने जिम्मेदारी किसकी है. ये जिम्मेदारी पश्चिम बंगाल के गृहमंत्री की है. पश्चिम बंगाल की गृहमंत्री मुख्यमंत्री ममता बनर्जी खुद हैं.

सलेक्टिव चुप्पी क्यों?

मुकुल रॉय ने कहा कि आज मॉब लिंचिंग पर प्रधानमंत्री को पत्र लिखने वाले बुद्धिजीवी और फिल्मस्टार कहां हैं जो पिछलें दो दिनों में जो 8 बीजेपी और आरएसएस के कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है, उस पर वो कुछ नहीं बोल रहे हैं और चुप हैं .

मुकुल रॉय ने कहा कि बंगाल में जिस तरह से कानून व्यवस्था खराब है, बंगाल की जनता देख रही है. 2021 के विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी को सबक जरूर सिखाएगी. ममता बनर्जी की पार्टी को विधानसभा चुनाव में विपक्ष के नेता बनने के लायक 30 सीटें भी नहीं मिलेगी.

बीजेपी नेता करेंगे गृह मंत्री और राष्ट्रपति से मुलाकात

मुकुल रॉय ने दावा किया कि जल्दी ही पश्चिम बंगाल बीजेपी के नेता राज्यपाल, गृहमंत्री और राष्ट्रपति से मुलाक़ात करके बंगाल में जो क़ानून व्यवस्था की ख़स्ता हालत हैं उसके बारे में बताएंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें