scorecardresearch
 

अयोध्या केस: 18 अक्टूबर तक पूरी होगी सुनवाई? वकीलों ने मांगे इतने दिन

चीफ जस्टिस के अनुसार इस मामले पर दलीलें 18 अक्टूबर तक खत्म होनी चाहिए. अगर सुनवाई की बात करें तो अभी मुस्लिम पक्ष की ओर से ASI की रिपोर्ट पर मीनाक्षी अरोड़ा दलीलें रख रही हैं. उनकी दलील खत्म होने के बाद सूट-4 पर वकील शेखर नफाडे, मुस्लिम पक्ष की ओर से राजीव धवन और अन्य वकीलों को अपना पक्ष रखना है.

X
सुप्रीम कोर्ट में जारी है अयोध्या मामले की सुनवाई (फोटो: ANI) सुप्रीम कोर्ट में जारी है अयोध्या मामले की सुनवाई (फोटो: ANI)

  • सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या सुनवाई का 32वां दिन
  • CJI को उम्मीद- 18 अक्टूबर तक पूरी हो सुनवाई
  • वकीलों ने दलील के लिए मांगा कुछ वक्त

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले की सुनवाई को 18 अक्टूबर तक खत्म करने को कहा है, ताकि अगले एक महीने में इसपर फैसला सुनाया जा सके. गुरुवार को जब चीफ जस्टिस ने ये टिप्पणी की तो इसके बाद उन्होंने वकीलों के साथ अदालत में आने वाले शेड्यूल पर भी बात की, जिस दौरान वकीलों को दलीलों के लिए मिलने वाले समय पर चर्चा हुई.

चीफ जस्टिस के अनुसार इस मामले पर दलीलें 18 अक्टूबर तक खत्म होनी चाहिए. अगर सुनवाई की बात करें तो अभी मुस्लिम पक्ष की ओर से ASI की रिपोर्ट पर मीनाक्षी अरोड़ा दलीलें रख रही हैं. उनकी दलील खत्म होने के बाद सूट-4 पर वकील शेखर नफाडे, मुस्लिम पक्ष की ओर से राजीव धवन और अन्य वकीलों को अपना पक्ष रखना है.

18 अक्टूबर तक इस मामले की सुनवाई होनी है क्योंकि इसके बाद एक हफ्ते की दिवाली की छुट्टियां भी पड़ जाएंगी. वकीलों से जब दलीलों का समय पूछा गया तो रामलला की ओर से वकील वैद्यनाथन ने रिजॉइनर के लिए तीन से चार दिन का समय मांगा, मीनाक्षी अरोड़ा की ओर से एक दिन में बहस खत्म करने की बात कही गई.

हालांकि, मुस्लिम पक्ष की ओर से वकील राजीव धवन ने कहा कि ASI रिपोर्ट को लेकर जो आपत्तियां बताई गई हैं उसमें उन्हें देखना होगा. इसके अलावा उन्होंने अपने दूसरे केसों का हवाला दिया और कहा कि ऐसे में अन्य कोर्ट की सुनवाई पर असर पड़ सकता है.

आपको बता दें कि गुरुवार को अयोध्या मसले पर सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि इस केस की सुनवाई 18 अक्टूबर तक खत्म होना जरूरी है. अगर हमने चार हफ्ते में फैसला दे दिया तो ये एक तरह का चमत्कार होगा.

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि अगर सुनवाई 18 अक्टूबर तक खत्म नहीं हुई तो फैसला देने का चांस खत्म हो जाएगा. सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस बोले कि आज (गुरुवार) को मिलाकर हमारे पास सिर्फ सुनवाई खत्म करने के लिए साढ़े 10 दिन बचे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें