scorecardresearch
 

नीरव मोदी को बड़ा झटका, सिंगापुर ने किया नागरिकता देने से इनकार

नीरव मोदी पर करीब 13000 करोड़ के पीएनबी घोटाले का आरोप है. नीरव के साथ उसके मामा मेहुल चोकसी पर भी इस स्कैम में शामिल होने का आरोप है. दोनों देश छोड़कर भाग चुके हैं और भारत सरकार उनके प्रत्यर्पण की कोशिश कर रही है.

X
नीरव मोदी ने सिंगापुर से मांगी थी नागरिकता
नीरव मोदी ने सिंगापुर से मांगी थी नागरिकता

पंजाब नेशनल बैंक स्कैम के मुख्य आरोपी नीरव मोदी के प्रत्यर्पण की कोशिशों के बीच सिंगापुर ने उसे बड़ा झटका दिया है. नीरव मोदी ने सिंगापुर सरकार से नागरिकता की मांग की थी, जिसे उसने खारिज कर दिया है.

सूत्रों के मुताबिक, जानकारी मिली है कि पीएनबी स्कैम में आरोपी और देश छोड़कर फरार हुए नीरव मोदी ने सिंगापुर की नागरिकता मांगते हुए वहां का पासपोर्ट हासिल करने की अपील की थी. लेकिन सिंगापुर सरकार ने नीरव मोदी की अपील ठुकरा दी है और नागरिकता देने से इनकार कर दिया है.

बता दें कि नीरव मोदी और मेहुल चोकसी पर फर्जी लेटर ऑफ अं‍डरटेकिंग के जरिए पंजाब नेशनल बैंक को 13400 करोड़ रुपये का चूना लगाने का आरोप है. इन दोनों के खिलाफ सीबीआई, ईडी समेत अन्य जांच एजेंसियां लगातार जांच में जुटी हुई हैं और इनके प्रत्यर्पण की कोशिश की जा रही है.

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने पीएनबी घोटाले में इस साल फरवरी में मेहुल चोकसी और नीरव मोदी के खिलाफ केस दर्ज किया था. घोटाले का खुलासा होने से पहले ही दोनों देश से फरार हो गए थे.

भारतीय जांच एजेंसियां लगातार नीरव मोदी और मेहुल चोकसी को भारत वापस लाने की कोशिश कर रही है. मेहुल चोकसी के एंटीगुआ में रहने की खबर है और उसको वहां की नागरिकता भी मिल चुकी है. एंटीगुआ सरकार ने भी आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि की है. जिसके बाद प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने संयुक्त राष्ट्र संघ के भ्रष्टाचार विरुद्ध सम्मेलन (UNCAC) के तहत मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें