scorecardresearch
 

पुष्कर पहुंचे मोहन भागवत, पुरोहितों ने मांगी आरक्षण खत्म करने की दक्षिणा

सरसंघचालक मोहन भागवत आरएसएस की अखिल भारतीय समन्वय बैठक में भाग लेने के लिए मंगलवार की शाम पुष्कर पहुंचे. पुष्कर पहुंचकर सरसंघचालक मोहन भागवत ने पवित्र पुष्कर सरोवर की पूजा अर्चना की. पूजा अर्चना में पुष्कर के तीर्थ पुरोहितों ने पूजा अर्चना खत्म होते ही मोहन भागवत से पूरे देश में आरक्षण समाप्त करने की मांग की.

पुष्कर पहुंचने के बाद मोहन भागवत ने की पूजा पुष्कर पहुंचने के बाद मोहन भागवत ने की पूजा

  • मोहन भागवत ने पुष्कर के सरोवर घाट पर की पूजा
  • पुरोहितों ने पूजा के बाद दक्षिणा में आरक्षण खत्म करने की मांग की

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय समन्वय बैठक और प्रतिनिधिमंडल की बैठक के लिए सरसंघचालक मोहन भागवत पुष्कर पहुंचे हैं. पुष्कर के पुरोहितों ने सरोवर घाट पर मोहन भागवत की पूजा अर्चना करवाई. मोहन भागवत से पुष्कर के पुरोहितों ने पूजा के बाद दक्षिणा में देश से आरक्षण समाप्त करने की मांग की.

सरसंघचालक मोहन भागवत आरएसएस की अखिल भारतीय समन्वय बैठक में भाग लेने के लिए मंगलवार की शाम पुष्कर पहुंचे. पुष्कर पहुंचकर सरसंघचालक मोहन भागवत ने पवित्र पुष्कर सरोवर की पूजा अर्चना की. पूजा अर्चना में पुष्कर के तीर्थ पुरोहितों ने पूजा अर्चना खत्म होते ही मोहन भागवत से पूरे देश में आरक्षण समाप्त करने की मांग की.

संरसंघचालक मोहन भागवत 3 सितंबर से 11 सितंबर तक पुष्कर में रहेंगे. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तीन दिवसीय अखिल भारतीय समन्वय बैठक 7 सितंबर से शुरू होगी. बैठक में शामिल होने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक के पुष्कर पहुंचने पर जगद्गुरु श्रीश्री महाराज श्याम शरण देवाचार्य जी महाराज और गिरधर गोपाल परशुराम के मंदिर में पूजा की. इसके बाद मंदिर में मोहन भागवत का माला पहनाकर स्वागत भी किया. पुष्कर की पूजा अर्चना के बाद मोहन भागवत ने जगद्गुरु श्री निंबार्काचार्य महाराज से धर्म पर भी चर्चा की. भागवत 11 सितंबर तक पुष्कर में ही रहेंगे. इस दौरान वे विभिन्न स्तर पर होने वाली बैठकों में शामिल होंगे.

अखिल भारतीय समन्वय बैठक 7 सितंबर से शुरू होकर 9 सितम्बर तक चलेगी. बैठक में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य और समाज जीवन के विविध क्षेत्रों (सामाजिक, धार्मिक, आर्थिक, शिक्षा, सेवा) में काम करने वाले तीन दर्जन संगठनों के करीब 200 अखिल भारतीय पदाधिकारी शामिल होंगे.

बैठक में सामाजिक, आर्थिक, शैक्षिक परिदृश्य, कृषि, पर्यावरण, जल संरक्षण समेत अन्य समसामयिक विषयों पर मंथन होगा. इस दौरान विविध क्षेत्रों में काम करने वाले संगठनों के कार्यकर्ता भी अनुभव, विचार और उपलब्धि साझा करेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें