scorecardresearch
 

मोदी सरकार ने तेज भागती अर्थव्यवस्था को सुस्त कर दिया: चिदंबरम

पंचायत आजतक के अहम सत्र मोदी शासन के चार साल में पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने शिरकत की. इस सत्र का संचालन राजदीप सरदेसाई ने किया. इस सत्र के दौरान पी चिदंबरम ने कहा कि मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान नोटबंदी का फैसला लेकर देश की अर्थव्यवस्था को सबसे बड़ा नुकसान पहुंचाने का काम किया है.

नोटबंदी से सिर्फ नुकसान हुआ नोटबंदी से सिर्फ नुकसान हुआ

पंचायत आजतक के अहम सत्र मोदी शासन के चार साल में पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने शिरकत की. इस सत्र का संचालन राजदीप सरदेसाई ने किया. इस सत्र के दौरान पी चिदंबरम ने कहा कि मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान नोटबंदी का फैसला लेकर देश की अर्थव्यवस्था को सबसे बड़ा नुकसान पहुंचाने का काम किया है.

चिदंबरम ने कहा कि नोटबंदी  से पहले देश की अर्थव्यवस्था 8 फीसदी से अधिक की रफ्तार के साथ दौड़ रही थी. लेकिन नोटबंदी के दुर्भाग्यपूर्ण फैसले से देश की ग्रोथ 7 फीसदी पर पहुंच गई और कुछ ही दिनों में वह 7 फीसदी के नीचे चली गई. क्या नोटबंदी का फैसला सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था की रफ्तार को कम करने के लिए किया था? चिदंबरम ने कहा कि वैश्विक स्तर पर अर्थशास्त्री दावा करते हैं कि नोटबंदी के फैसले से भारतीय अर्थव्यवस्था को सिर्फ नुकसान पहुंचा है.

जलाई 2017 में जीएसटी लागू करने के फैसले पर चिदंबरम ने कहा कि पहली सच्चाई यह है कि जीएसटी पूरी तरह से कांग्रेस सरकार की योजना थी. कांग्रेस सरकार के शासन में लगातार सात साल तक बीजेपी ने इस टैक्स सुधार का विरोध किया. लेकिन बीजेपी सरकार बनने के बाद मोदी सरकार ने इसे खुद की योजना बताते हुए लागू किया. हालांकि इस लागू करने में जिस तरह से इसका स्वरूप बदला गया और आधी-अधूरी तैयारी के साथ लागू किया गया का भी बड़ा नुकसान देश में कारोबार को उठाना पड़ा.

इसे पढ़ें: GDP से महंगाई तक अर्थव्यवस्था के इन पैमानों पर कितना खरे उतरे मोदी

चिदंबरम ने क्रूड ऑयल की बढ़ती कीमतों पर कहा कि देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में की जा रही बढ़ोत्तरी आम आदमी को महंगाई से जाल में फंसा देगी. केन्द्र सरकार को चाहिए कि जल्द से जल्द पेट्रोल-डीजल पर टैक्स और सेस कम करना चाहिए जिससे आम आदमी को राहत पहुंचे.

उज्ज्वला योजना के तहत फ्री गैस कनेक्शन पर सवाल उठाता हुए पी चिदंबरम ने कहा कि केन्द्र सरकार ने जिसे फ्री सिलेंडर और स्टोव दिया वह क्यों दूसरी बार सिलेंडर खरीदने नहीं जाता. क्या उज्ज्वला योजना से फायदा पाने वाले पहला फ्री सिलेंडर खत्म करने के बाद वापस चूल्हे पर खाना पकाने लगता है. चिदंबरम ने पूछा कि यदि उज्ज्वला से करोड़ों परिवारों को फायदा पहुंच रहा है तो क्यों देश में सिलेंडर की बिक्री का आंकड़ा नहीं बढ़ रहा है. चिदंबरम ने कहा कि केन्द्र सरकार इस सवाल पर कोई जवाब नहीं दे रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें