scorecardresearch
 

पिछली बार मोदी कैबिनेट में थीं 6 महिलाएं, इस बार ये 3 हुईं OUT

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में महिला मंत्रियों की संख्या पिछली बार की अपेक्षा कम हो गई है.पिछली बार 10 महिलाओं को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया था, लेकिन इस बार सिर्फ 6 महिलाओं को जगह मिली है.

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और निर्मला सीतारमण केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और निर्मला सीतारमण

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रिमंडल में इस बार सिर्फ 6 महिलाओं को मंत्री बनाया है. इनमें से तीन महिलाओं को केंद्रीय कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है, जबकि तीन महिलाओं को केंद्रीय राज्यमंत्री बनाया गया है. पिछली बार की तुलना में इस बार मोदी सरकार में महिलाओं की कमी की गई है. पिछली बार मोदी सरकार में 10 महिलाओं को मंत्री  बनाया गया था.

गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ 24 कैबिनेट मंत्रियों समेत कुल 57 मंत्रियों ने पद और गोपनीयता की शपथ ली. इनमें जिन 6 महिलाओं को मंत्री बनाया गया है, जिनमें निर्मला सीतारमण, हरसिमरत कौर, स्मृति ईरान, साध्वी निरंजन ज्योति, रेणुका सिंह सारुता और देबाश्री चौधरी हैं.

निर्मला सीतारमण, हरसिमरत कौर और स्मृति ईरानी को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गाय है, जबकि साध्वी निरंजन ज्योति, रेणुका सिंह सारुता और देबाश्री चौधरी को राज्यमंत्री का पद दिया गया है.

इस बार सुषमा स्वराज, उमा भारती, अनुप्रिया पटेल, मेनका गांधी और नजमा हेपतुल्ला को मंत्रिमंडल का हिस्सा नहीं बनाया गया है. सुषमा स्वराज ने स्वास्थ्य कारणों से मंत्रिमंडल में नहीं होने की बात कही है, जबकि लोकसभा चुनाव के दौरान उमा भारती ने चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान किया था.

पिछली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में 10 महिलाओं को मंत्री पद से नवाजा गया था. इनमें से 6 महिलाओं को कैबिनेट मंत्री बनाया गया था, जबकि बाकी को राज्यमंत्री का दर्जा दिया गया था. इस बार निर्मला सीतारमण, स्मृति ईरानी और हरसिमरत कौर बादल को कैबिनेट में जगह दी गई है.

पिछली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में जिन महिलाओं को जगह दी गई थी, उनमें सुषमा स्वराज, उमा भारती, मेनका गांधी, हरसिमरत कौर, स्मृति ईरानी और नजमा हेपतुल्ला शामिल थीं.

साल 2014 में सुषमा स्वराज को विदेश मंत्री, उमा भारती को जल संसाधन, नदी विकास और गंगा सफाई मंत्री, स्मृति ईरानी को मानव संसाधन मंत्री, मेनका गांधी को महिला एवं बाल विकास मंत्री, हरसिमरत कौर को खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री और नजमा हेपतुल्ला को अल्पसंख्यक मामलों की मंत्री बनाया गया था.

हालांकि बाद में नजमा हेपतुल्ला को हटा दिया गया था और स्मृति ईरानी का मंत्रालय बदल दिया गया था. इसके अलावा बाद में साल 2017 में निर्मला सीतारमण को रक्षामंत्री बनाया गया. आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में शानदार जीत मिलने के बाद नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. उनके साथ 24 कैबिनेट मंत्री समेत कुल 57 मंत्रियों ने भी शपथग्रहण की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें