scorecardresearch
 

महबूबा मुफ्ती की बातें अंधविश्वास को बढ़ावा देती हैं: चिराग पासवान

लोक जनशक्ति पार्टी के सांसद चिराग पासवान ने जायरा वसीम को लेकर कहा है कि हर इंसान को खुद के फैसले लेने का अधिकार होता है. साथ ही उन्होंने महबूबा मुफ्ती के भगवा ट्वीट को लेकर भी निशाना साधा है.

महबूबा मुफ्ती के साथ जायरा वसीम महबूबा मुफ्ती के साथ जायरा वसीम

लोक जनशक्ति पार्टी के सांसद चिराग पासवान ने जायरा वसीम को लेकर कहा है कि हर इंसान को खुद के फैसले लेने का अधिकार होता है. साथ ही उन्होंने महबूबा मुफ्ती के भगवा ट्वीट को लेकर भी निशाना साधा है.

लोक जनशक्ति पार्टी के सांसद चिराग पासवान ने जायरा वसीम के मसले पर कहा, 'मुझे नहीं पता है कि कौन सा धर्म इस बात को कहता है कि क्या करना चाहिए. निजी निर्णय को लेने का अधिकार व्यक्ति विशेष का है. अगर यह उनकी अपनी इच्छा से लिया गया निर्णय है तो मैं उसका सम्मान करता हूं. अगर किसी राजनीतिक या सामाजिक दबाव से लिया गया निर्णय है तो मैं इसको गलत मानता हूं.'

साथ ही उन्होंने महबूबा मुफ्ती के ट्वीट पर कहा, 'महबूबा मुफ्ती बहुत पढ़ी-लिखी हैं. जब इस तरीके की बातें करती हैं तो हास्यास्पद है और अंधविश्वास को बढ़ावा देने वाली है. अगर सिर्फ जर्सी का कलर ही हार-जीत का फैसला करता है तो किसी को भी एक ऐसी रंग की जर्सी पहना दी जाएगी. जिससे जीत सुनिश्चित हो जाएगी. आप जर्सी के रंग से ही निरंतर जीतते रहेंगे. मैं नहीं जानता मुफ्ती ने इन बातों को क्यों कहा लेकिन यह अंधविश्वास को बढ़ावा देने वाली बात है.

जब चिराग पासवान से नुसरत जहां के मामले में मौलवियों की टिप्पणी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'यह सब गलत है किसी व्यक्ति विशेष को पूरी तरीके से आजादी है. अपने फैसले लेने की उसकी कार्यशैली कैसी हो, उसकी वेशभूषा कैसी हो, यह पूरी तरह से उसकी निजी राय है और उसकी निजी राय पर कोई क्या पहन रहा है, क्या नहीं पहन रहा है, इस पर किसी को टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें