scorecardresearch
 

केंद्र सरकार पर मल्लिकार्जुन खड़गे का हमला- जब मोदी सत्ता से जाएंगे, तभी अच्छे दिन आएंगे

सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव में बहस के दौरान मोदी सरकार पर सवाल दागते हुए मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि जब मोदी सत्ता से जाएंगे, लगता है तभी अच्छे दिन आएंगे. साथ ही उन्होंने सरकार पर कई सवाल दागे और पूछा कि किसानों के हालात कब सुधरेंगे और कालाधन कब आएगा.

मल्लिकार्जुन खड़गे मल्लिकार्जुन खड़गे

लोकसभा में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव में बहस के दौरान मोदी सरकार पर सवाल दागते हुए मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि जब मोदी सत्ता से जाएंगे, लगता है तभी अच्छे दिन आएंगे. साथ ही उन्होंने सरकार पर कई सवाल दागे और पूछा कि किसानों के हालात कब सुधरेंगे और कालाधन कब आएगा.

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि राजनाथ सिंह ने अभी हमें देश का इतिहास पढ़ाया. कर्नाटक के हर एक व्यक्ति को जो पता है वह पाठ राजनाथ जी हमें पढ़ा रहे थे. आपने कोई नई बात नहीं बताई, आपको अपनी सरकार की साढ़े चार साल की उपलब्धियां बतानी चाहिए थी. राजनाथ रामामण-महाभारत तक गए, लेकिन सिर्फ राम, भीम और कृष्ण ही याद आए, शंबूक और एकलव्य नहीं. आपके तो मुंह में राम, बगल में छुरी है.

कांग्रेस ने बचाया लोकतंत्र

कांग्रेस के इस वरिष्ठ नेता ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह के लोकतंत्र वाले बयान पर जवाब देते हुए कहा कि अगर आज हम आपके जैसे चलते तो लोकतंत्र खत्म ही हो जाता. आपने समाज को तोड़ने की कोशिश की, समाज को असमानता की ओर धकेला जा रहा है, ऐसे में लोकतंत्र खत्म ही हो जाता. कांग्रेस ने लोकतंत्र बचाने की कोशिश की और यह आपको मानना पड़ेगा.

खड़गे ने आगे कहा कि चर्चा के दौरान बार-बार कहा गया कि विपक्षी दल मदद नहीं करते, लेकिन लोकपाल में एक छोटा सा बदलाव करने के लिए आप तैयार नहीं हैं, ऐसे में आपको लोकतंत्र के बारे में बोलने का अधिकार नहीं है. आप विपक्षी दल के नेता को लोकपाल में शामिल करने का संशोधन आजतक नहीं लाए हैं. आप लोकतंत्र के बारे में बड़ी-बड़ी बातें करते हो, लेकिन सच्चाई अलग है.

अविश्वास प्रस्ताव लाने की वजह पर मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि टीडीपी, कांग्रेस समेत अन्य दलों ने इसका नोटिस दिया. उन्होंने स्पीकर को ज्यादा वक्त देने के लिए धन्यवाद भी कहा. आंध्र का मुद्दा उठाते हुए खड़गे ने कहा कि हम आपके साथ हैं, फिर भी आप टीडीपी की मांग मानने को तैयार नहीं है. सरकार नहीं चाहती कि आंध्र प्रदेश को उनका हक मिले, क्योंकि बीते सत्र में हम चर्चा चाहते थे लेकिन सरकार तैयार नहीं थी.

खड़गे ने कहा कि कांग्रेस आंध्र प्रदेश के लोगों के हितों की रक्षा के लिए हर मुमकिन कोशिश करेगी. यहां संख्याबल नहीं रहते हुए भी हम सभी ने टीडीपी के इस प्रस्ताव का समर्थन किया है. इसके अलावा एनसीपी, मुस्लिम लीग, सीपीआई और सीपीएम जैसे दलों ने भी इस प्रस्ताव का समर्थन किया है.

सरकार ने नहीं पूरा किया वादा

मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए खड़गे ने कहा कि सरकार ने सत्ता में आने से पहले किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया था, लेकिन आपने जो वादा किया उसके मुताबिक फसलों की कीमत नहीं बढ़ाई गई. सरकार प्रचार में ज्यादा जोर देती है और कारोबारी भी आपके साथ हैं. एमसीपी बढ़ाने का फैसला चुनाव के मद्देनजर लिया गया है, लेकिन उससे कुछ होने वाला नहीं.

मल्लिकार्जुन खड़गे ने आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी संविधान को बदलना चाहती है. सरकार बताए कि 80 लाख करोड़ का काला धन वापस कब आएगा.

खड़गे ने कहा कि बैंकों के लुटेरे वापस कब आएंगे, किसान की हालत कब सुधरेंगे, कालाधन कब आएगा, यूनिवर्सिटी में पिछड़ों को कब तक आरक्षण मिलेगा इस जवाब सरकार को देना होगा.

उन्होंने कहा कि जब मोदी जी सत्ता से जाएंगे, लगता है तभी अच्छे दिन आएंगे. भाषण खत्म करने के बाद खड़गे ने फिर से खड़े होकर कहा कि सरकार ने देशवासियों को मुंगेरी लाल के हसीन सपने दिखाकर उन्हें लूटने का काम किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें