scorecardresearch
 

महज 18 महीने में बढ़ गई कर्नाटक के विधायक की 185 करोड़ की संपत्ति

बीजेपी में शामिल होने से पहले एमटीबी नागराज कांग्रेस में थे और उनकी ओर से दाखिल हलफनामे में संपत्ति का खुलासा यह बताता है कि उनकी संपत्ति में पिछले 18 महीने में ही 185 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है.

नागराज की संपत्ति में 18 महीने में 185 करोड़ की संपत्ति का इजाफा (प्रतीकात्मक तस्वीर) नागराज की संपत्ति में 18 महीने में 185 करोड़ की संपत्ति का इजाफा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

  • MTB ने किया हलफनामे में 1201 करोड़ की संपत्ति का खुलासा
  • 2018 के चुनाव में विधायक के पास थी 1015 करोड़ रुपये की संपत्ति

पिछले हफ्ते भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में शामिल होने वाले और कर्नाटक के होसकोटे विधानसभा सीट से प्रत्याशी एमटीबी नागराज ने अपने हलफनामे में 1200 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति होने का खुलासा किया है.  चुनाव अधिकारी को सौंपे अपने हलफनामे में उन्होंने अपने और अपनी पत्नी की 1201 करोड़ की संपत्ति होने की बात कही है.

बीजेपी में शामिल होने से पहले एमटीबी नागराज कांग्रेस में थे और उनकी ओर से दाखिल हलफनामे में संपत्ति का खुलासा यह बताता है कि उनकी संपत्ति में पिछले 18 महीने में ही 185 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है. पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव के दौरान एमटीबी नागराज ने अपनी संपत्ति का खुलासा करते हुए 1015 करोड़ की संपत्ति होने की जानकारी दी थी.

पत्नी के नाम 167 करोड़ की चल संपत्ति

इस साल उनके पास 419.28 करोड़ रुपये की चल संपत्ति है जबकि उनकी पत्नी के पास 167.34 करोड़ रुपये चल संपत्ति के रूप में है.

एमटीबी नागराज के 2018 और 2019 हलफनामे की बात करें तो उनकी चल संपत्ति में 104.53 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है. जबकि उनकी पत्नी शांताकुमारी के पास चल संपत्ति 44.95 करोड़ रुपये की संपत्ति है.

नागराज ने अगस्त में इस धनराशि का 25.84 प्रतिशत महज छह दिनों में बना दिया था, जिसके ठीक एक पखवाड़े बाद उन्होंने एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली जनता दल (एस) और कांग्रेस गठबंधन वाली सरकार के पतन में मदद की थी.

16 विधायक बीजेपी में शामिल

23 जुलाई को विश्वास मत हारने के बाद कुमारस्वामी की अगुवाई वाली गठबंधन सरकार गिर गई. इसके बाद बीएस येदियुरप्पा ने 26 जुलाई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली.

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट से राहत मिलने के बाद कर्नाटक के अयोग्य ठहराए गए 17 में से 16 विधायक गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में शामिल हो गए. सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में इस विधायकों को चुनाव लड़ने की अनुमति दे दी है.

कर्नाटक में अयोग्य घोषित किए गए 17 पूर्व विधायकों में से रोशन बेग को छोड़कर अन्य विधायक गुरुवार को बीजेपी में शामिल हो गए. रोशन बेग को छोड़कर रमेश जरकीहोली, महेश कुमटाहल्ली, आनंद सिंह, श्रीमंत पाटिल, प्रताप गौड़ा पाटिल, बीसी पाटिल, शिवराम हेब्बर, एस.टी. सोमशेखर, बीरति बसवराजू, मुनिरत्न के. सुधाकर, एएच विश्वनाथ, नारायण गौड़ा और के. गोपालय्या, आर. शंकर के अलावा एमबीटी नागराज भी बीजेपी में शामिल हो गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें