scorecardresearch
 

CAG रिपोर्ट लीक होने का सवाल ही नहीं उठता: राय

भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) विनोद राय ने संसद में कैग की रिपोर्ट रखे जाने से पहले लीक होने के दावों को रविवार को खारिज कर दिया और कहा कि 2जी स्पेक्ट्रम, कोयला ब्लॉक आवंटन, कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स मुद्दों पर तय की गयी राशियां निश्चित तथ्यों पर आधारित हैं.

विनोद राय विनोद राय

भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) विनोद राय ने संसद में कैग की रिपोर्ट रखे जाने से पहले लीक होने के दावों को रविवार को खारिज कर दिया और कहा कि 2जी स्पेक्ट्रम, कोयला ब्लॉक आवंटन, कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स मुद्दों पर तय की गयी राशियां निश्चित तथ्यों पर आधारित हैं.

राय ने एक संगोष्ठी में कुछ आंकड़ों पर कैग की हो रही आलोचना के बारे में पूछे गये एक सवाल के जवाब में यह बात कही. उन्होंने कहा, ‘विभिन्न मामलों में कैग रिपोर्ट सार्वजनिक हो चुकी है. हम कोयला ब्लॉक आवंटन एवं अन्य मुद्दों पर अपने आंकड़ों पर कायम हैं. यदि बहस हो रही है तो उसे चलने दीजिये.’ उन्होंने कहा कि हर रिपोर्ट अनूठी होती है. उन्होंने कहा कि कैग अपनी तरफ से कोई गणना नहीं करता. ‘हम कुछ तथ्यों के आधार पर यह करते हैं.’

कैग रिपोर्ट लीक होने के बारे में उन्होंने कहा, ‘लीक होने का कोई सवाल हीं नही है. यह बेहद सरल है. हम आरटीआई के तहत हैं. यदि हम कोई रिपोर्ट तैयार कर रहे हैं और कोई व्यक्ति आरटीआई के तहत सवाल करता है तो हमें उसे जवाब देना पड़ता है.’ उन्होंने कहा कि केन्द्रीय सूचना आयोग ने यह व्यवस्था दी थी कि यदि रिपोर्ट बनाने के दौरान यदि कोई व्यक्ति सूचना मांगता है तो हमें जवाब देना होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें