scorecardresearch
 

अमूल्य पटनायक के सामने जवानों ने लगाए नारे- ‘हमारा CP कैसा हो, किरण बेदी जैसा हो’

दिल्ली पुलिस के जवान लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं और कह रहे हैं कि सीनियर अफसरों को इस मामले में दखल देना चाहिए और वकीलों के खिलाफ एक्शन लेना चाहिए.

जवानों ने लगाए किरण बेदी के समर्थन में नारे (फोटो: IANS) जवानों ने लगाए किरण बेदी के समर्थन में नारे (फोटो: IANS)

  • वकीलों के खिलाफ दिल्ली पुलिस के जवानों का प्रदर्शन
  • कमिश्नर ने जवानों से वापस ड्यूटी पर लौटने को कहा
  • जवानों ने किरण बेदी के समर्थन में लगाए नारे

दिल्ली पुलिस के जवान वकीलों के साथ चल रहे विवाद को लेकर मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं. नाराज जवानों को संबोधित करने के लिए मंगलवार दोपहर को दिल्ली पुलिस के कमिश्नर अमूल्य पटनायक सामने आए, लेकिन उन्हें यहां भी विरोध का सामना करना पड़ा. प्रदर्शन कर रहे जवानों ने अमूल्य पटनायक के सामने नारे लगाए ‘हमारा CP कैसा हो, किरण बेदी जैसा हो’.

दरअसल, दिल्ली पुलिस के जवान लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं और कह रहे हैं कि सीनियर अफसरों को इस मामले में दखल देना चाहिए और वकीलों के खिलाफ एक्शन लेना चाहिए. जब DCP लेवल के अधिकारी प्रदर्शन कर रहे जवानों से बात करने पहुंचे तो उन्होंने कमिश्नर अमूल्य पटनायक के बाहर आने की मांग की.

दोपहर 12.30 बजे जब अमूल्य पटनायक बाहर आए और उन्होंने जवानों से शांति बनाए रखने की अपील करते हुए वापस ड्यूटी पर लौटने की बात कही तो जवानों ने नारेबाजी शुरू कर दी. इसी दौरान जवानों ने नारे लगाए ‘हमारा कमिश्नर कैसा हो, किरण बेदी जैसा हो’.

सख्त छवि के लिए जानी जाती हैं किरण बेदी

आपको बता दें कि किरण बेदी अभी पुडुचेरी की उपराज्यपाल हैं. किरण बेदी पुलिस अधिकारी (IPS) बनने वाली पहली महिला थीं, उन्होंने 35 साल पुलिस में काम किया. किरण बेदी की छवि एक सख्त पुलिस अफसर के तौर पर रही थी, यही कारण है कि आज दिल्ली पुलिस के जवानों ने किरण बेदी के समर्थन में नारेबाजी की.

1982 में जब किरण बेदी दिल्ली पुलिस में थीं, तब सब इंस्पेक्टर निर्मल सिंह ने इंदिरा गांधी के कार्यालय की गाड़ी को उठवा लिया था क्योंकि वह गलत पार्क की गई थी. लेकिन तब किरण बेदी ने अपने जूनियर अफसर का बचाव किया था और PMO से भी भिड़ गई थीं.

मंगलवार को जवानों के समझाने पहुंचे मौजूदा दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने कहा कि वह इन मामलों में जांच कर रहे हैं और कानून के मुताबिक ही काम किया जाएगा. उन्होंने प्रदर्शन कर रहे जवानों से शांति से अपनी ड्यूटी पर लौटने को कहा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें