scorecardresearch
 

RSS से मुकाबला करेगा राष्ट्रीय कांग्रेस स्वयंसेवक संघ

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व ओलंपियन असलम शेर खान ने कहा है कि मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ में वर्ष 2018 में होने वाले विधानसभा चुनावों में भाजपा को टक्कर देने के लिए वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तर्ज पर 'राष्ट्रीय कांग्रेस स्वयंसेवक संघ' (आरसीएसएस) बनाएंगे.

आरएसएस से मिलता है बीजेपी को संबल आरएसएस से मिलता है बीजेपी को संबल

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व ओलंपियन असलम शेर खान ने कहा है कि मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ में वर्ष 2018 में होने वाले विधानसभा चुनावों में भाजपा को टक्कर देने के लिए वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तर्ज पर 'राष्ट्रीय कांग्रेस स्वयंसेवक संघ' (आरसीएसएस) बनाएंगे. पूर्व केन्द्रीय मंत्री असलम ने यहां पत्रकारों को बताया, 'मैं आज राष्ट्रीय कांग्रेस स्वयंसेवक संघ के गठन की घोषणा करता हूं.'

असलम ने कहा कि यह संगठन मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों में ठीक उसी तरह से कांग्रेस की मदद करेगा, जैसे आरएसएस चुपके-चुपके पिछले दरवाजे से चुनावों में भाजपा की सहायता करती है. उन्होंने कहा कि आरसीएसएस का ढांचा ठीक उसी प्रकार का होगा, जैसे आरएसएस का है, लेकिन आरसीएसएस का कोई यूनिफॉर्म नहीं होगा, जैसा कि आरएसएस स्वयंसेवकों का है.

असलम ने बताया, 'मैंने आरसीएसएस बनाने का निर्णय लिया है, क्योंकि जमीनी स्तर पर कांग्रेस के पास कार्यकर्ताओं की भारी कमी है, जबकि एक राजनीतिक दल के लिए चुनाव जीतने के लिए जमीनी स्तर पर कार्यकर्ताओं का होना जरूरी है. उन्होंने कहा कि आरसीएसएस में उन लोगों को स्वयंसेवकों के रूप में शामिल किया जायेगा, जो किसी राजनीतिक दल से न जुड़े हों और धर्मनिरपेक्ष होने के साथ-साथ कांग्रेस के समान विचार रखने वाले हों.

 

सेवा दल लगभग खत्म !
असलम ने बताया कि हाल ही में हुए उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के परिणामों से स्पष्ट हो गया है कि यदि कांग्रेस केवल अल्पसंख्यक वोटों के बल पर ही सत्ता में आना चाहती है, तो यह संभव नहीं है. जब उनसे सवाल किया गया कि वह आरसीएसएस क्यों बना रहे हैं, जबकि आरएसएस के पहले ही कांग्रेस सेवा दल का गठन हुआ था, इस पर उन्होंने कहा, 'कांग्रेस सेवा दल लगभग खत्म हो चुका है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें