scorecardresearch
 

चीनी मिल बिक्री घोटाले पर सख्त कदम उठाए सपा: भाकपा

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) ने नियंत्रक एवं लेखा महापरीक्षक (कैग) की रिपोर्ट में उत्तर प्रदेश सरकार से तत्काली मायावती सरकार द्वारा राज्य की चीनी मिलों की बिक्री में घोटाले के दोषी लोगों को कड़ी सजा दिलाने या मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है.

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) ने नियंत्रक एवं लेखा महापरीक्षक (कैग) की रिपोर्ट में उत्तर प्रदेश सरकार से तत्काली मायावती सरकार द्वारा राज्य की चीनी मिलों की बिक्री में घोटाले के दोषी लोगों को कड़ी सजा दिलाने या मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है.

भाकपा के राज्य सचिव डॉक्टर गिरीश ने एक बयान में कहा कि पूर्ववर्ती मायावती सरकार द्वारा राज्य की विभिन्न चीनी मिलों को बेचे जाने में हुआ करोड़ों रुपए का घपला कैग की जांच में उजागर हो चुका है. अब प्रदेश की नयी सपा सरकार को इस घोटाले के दोषी लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिये. अगर वह ऐसा करने में असमर्थ है तो प्रकरण की जांच सीबीआई के सुपुर्द कर दे.

गिरीश ने कहा कि उन्होंने वर्ष 2010 में राज्यपाल बीएल जोशी को लिखे पत्र में प्रदेश की 10 चीनी मिलों की बिक्री में हुए घपले का जिक्र करते हुए आरोप लगाया था कि बिजनौर, बुलंदशहर, अमरोहा, चांदपुर तथा सहारनपुर स्थित सर्वाधिक लाभ पहुंचाने वाली पांच चीनी मिलों को तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती के चहेते उद्योगपति पोंटी चड्ढा को सस्ते दामों पर बेचकर राजकोष को करोड़ों रुपए का नुकसान पहुंचाया गया.

भाकपा नेता ने कहा कि उन्होंने राज्यपाल से इस मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की थी, लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें