scorecardresearch
 

जयपुर में निर्माणाधीन मकान में लगी आग, तीन लोगों की मौत

जयपुर में गांधीनगर रेलवे स्टेशन के पास एक निर्माणाधीन मकान में आग लग गई. इस हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई. वहीं तीन अन्य घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. यह आग पोस्ट ऑफिस के सामने मकान में लगी. दमकल ने आग पर काबू पाया. 

जयपुर में निर्माणाधीन मकान में लगी आग (प्रतीकात्मक तस्वीर) जयपुर में निर्माणाधीन मकान में लगी आग (प्रतीकात्मक तस्वीर)

  • जयपुर में निर्माणाधीन मकान में लगी आग
  • आग लगने की वजह से 3 मजदूरों की मौत

जयपुर में गांधीनगर रेलवे स्टेशन के पास एक निर्माणाधीन मकान में आग लग गई. इस हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई. वहीं तीन अन्य घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. यह आग पोस्ट ऑफिस के सामने मकान में लगी. दमकल ने आग पर काबू पाया.

मिली जानकारी के मुताबिक 3 अन्य घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज जारी है. आग पोस्ट ऑफिस से नजदीक एक घर में लगी है. मारे गए सभी लोग मजदूर हैं. मौत का कारण जहरीली गैस का फैल जाना बताया जा रहा है.

शवों को पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है. अब तक सामने आई जानकारी के मुताबिक घटना स्थल पर पुलिस समेत कई प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं. पुलिस ने शवों को अपने कब्जे में ले लिया है. अब शवों का पोस्टमॉर्टम कराया जाएगा. हादसे में जिन मजदूरों की मौत हुई है, उनके नामों को सार्वजनिक अभी तक नहीं किया गया है.

इससे पहले 31 दिसंबर 2019 को अलवर के राजकीय गीतानंद शिशु अस्पताल में आग लग गई थी. बच्ची की मौत मामले में दो डॉक्टरों सहित 6 लोगों को निलंबित कर दिया गया था. शिशु अस्पताल प्रभारी डॉ महेश वशिस्ठ और मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर कृपाल सिंह यादव को निलंबित कर दिया गया था. वहीं अनुबंध पर रखे गए इलेक्ट्रिशियन की भी सेवा समाप्त कर दी गई थी.

गीतानंद शिशु अस्पताल में आग लगने की घटना पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने इससे पहले बड़ी कार्रवाई की थी. उन्होंने घटना पर दुख जताया था और मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी बनाई थी. जिस वक्त अस्पताल में आग लगी उस दौरान वहां पर 15 बच्चे थे. वहां एक नवजात की आज जयपुर में मौत हो गई, जबकि 14 बच्चों को बचा लिया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें