scorecardresearch
 

पंजाब की जेल में बंद गैंगस्टर ने फेसबुक पर दी पूर्व मंत्री को धमकी

अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया ने भगवानपुरिया पर धमकी देने का आरोप लगाते हुए उसके कुछ पोस्ट सोशल मीडिया पर दिखाए और दावा किया कि जग्गू को जेल में वीआईपी सहूलियतें मिल रही हैं.

प्रतीकात्मक चित्र प्रतीकात्मक चित्र

  • पूर्व मंत्री ने लगाए गंभीर आरोप
  • पूर्व मंत्री बिक्रम मजीठिया को मिली धमकी

पंजाब की जेलों में बंद खूंखार गैंगस्टर, पुलिस और जेल प्रशासन की मदद से अंदर रहकर ही अपना आपराधिक साम्राज्य चला रहे हैं, यह आरोप हमेशा ही लगते रहे हैं. अब जेल में बंद एक गैंगस्टर ने अकाली दल सरकार में मंत्री रहे एक वरिष्ठ नेता को धमकी दी है. पूर्व मंत्री ने जेल मंत्री पर संरक्षण का आरोप लगाते हुए उनके साथ ही सहायकों की कॉल रिकॉर्ड की भी जांच किए जाने की मांग की है.

ताजा मामला नामी गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया से जुड़ा है. पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया को धमकियां दी हैं. अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया ने भगवानपुरिया पर धमकी देने का आरोप लगाते हुए उसके कुछ पोस्ट सोशल मीडिया पर दिखाए और दावा किया कि जग्गू को जेल में वीआईपी सहूलियतें मिल रही हैं. उन्होंने कहा कि जग्गू भगवानपुरिया की मां कांग्रेस पार्टी से जुड़ी हैं और पंचायत मेंबर हैं. जेलों में बंद गैंगस्टर बाहर हो रहे जुर्मों में भी शामिल है.

मजीठिया ने जग्गू भगवानपुरिया की फेसबुक पोस्ट दिखाई जिसमें उसने लिखा था कि वह जेल की सलाखें तोड़कर बाहर आ जाएगा. मजीठिया ने गैंगस्टर के जन्मदिन की एक वीडियो भी दिखाई जोकि जेल में बनाया गया है और फेसबुक पर भी पोस्ट किया गया है. इस वीडियो में जग्गू भगवानपुरिया का जन्मदिन धूमधाम से मनाया जा रहा है.

जग्गू ने सोशल मीडिया पर शेर से दी धमकी

पिछले दिनों बिक्रम मजीठिया ने गुरदासपुर में हुए पूर्व अकाली सरपंच की हत्या के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में पंजाब के जेल मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा पर कई गंभीर आरोप लगाए थे. उन्होंने जेल मंत्री के गैंगस्टर के साथ मिले होने का आरोप लगाया था. गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया ने मजीठिया के वही वीडियो फेसबुक पर टैग करके शेर-ओ-शायरी के जरिए मजीठिया को धमकियां दी हैं. मजीठिया ने दावा किया कि जेल मंत्री के संरक्षण के बगैर यह संभव नहीं.

उन्होंने इसकी जांच कराए जाने की मांग की और कहा कि अकाली-भाजपा सरकार ने 2015 में भगवानपुरिया को जेल भेजा था और अब कांग्रेस सरकार के दौरान पंजाब पुलिस की रिपोर्ट से ही पता चला है कि वह जेल में बैठा करोड़ों का फिरौती रैकेट चला रहा है. उन्होंने कहा कि ऐसे में स्पष्ट है कि उसे पंजाब सरकार और जेल मंत्री का समर्थन प्राप्त है. पूर्व मंत्री ने जेल में बंद कैदियों तक मोबाइल फोन पहुंचने पर भी सवाल उठाए.

जेल मंत्री ने किया पलटवार, दिया जवाब

जेल मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने पलटवार करते हुए मजीठिया पर ही जेलों में बंद गैंगस्टरों के साथ सांठगांठ के आरोप लगाए. रंधावा ने कहा कि जिस गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के साथ उनके संबंध होने का आरोप मजीठिया लगा रहे हैं, उस गैंगस्टर पर अकेले मजीठिया के विधानसभा क्षेत्र मजीठा में ही 29 के आसपास अलग-अलग मामले दर्ज हैं. पहले मजीठिया इन आरोपों पर सफाई दें कि उनके गैंगस्टरों के साथ संबंध क्या हैं और जब पंजाब में अकाली- भाजपा सरकार थी, उस दौरान कई गैंगस्टरों ने जेल में बैठे-बैठे ही अपना पूरा नेटवर्क और सिंडिकेट कैसे खड़ा कर दिया था.

पहले भी लगता रहा है आरोप

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, जब पंजाब की जेलों में बंद गैंगस्टरों पर जेल से ही अपना साम्राज्य चलाने का आरोप लगा हो. पहले गैंगस्टरों में आपस में ही सोशल मीडिया पर बयानबाजी और धमकियों का दौर चलता था, लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है जब जेल में बंद किसी गैंगस्टर ने पंजाब की बड़ी राजनीतिक पार्टी के विधायक को इस तरह से धमकी दी है.

बता दें कि नॉर्थ इंडिया सर्किल कबड्डी फेडरेशन को भी बाकायदा धमकी देकर डोप टेस्ट में फेल होने वाले खिलाड़ी को भी लेने के लिए कहा गया है. जग्गू भगवानपुरिया ने अपनी मेजर कबड्डी लीग भी बनाई है जिसमें अपराधिक छवि के खिलाड़ियों को जोड़ा गया है. कबड्डी फेडरेशन ने डीजीपी को एक लिखित शिकायत भी दी है, जिसमें जेल में बैठे गैंगस्टरों की ओर से धमकियां मिलने का आरोप लगाया गया है. जेल मंत्री ने यह माना कि जेल से धमकियां आती रहती हैं, लेकिन कबड्डी लीग में ड्रग्स का पैसा लगने से इनकार किया और साथ ही जांच की भी बात कही.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें