scorecardresearch
 

PoK पर कब्जे में वक्त नहीं लगेगा! बस एक आदेश का इंतजार, राजनाथ के बयान पर चिनार कॉर्प्स की हुंकार

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने हाल ही में पाकिस्तान को चुनौती दी थी. राजनाथ सिंह ने कहा था कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में उसने (पाकिस्तान) जो किया है, उसकी कीमत चुकानी पड़ेगी. पाकिस्तान अपने कब्जे वाले कश्मीर में लोगों पर 'अत्याचार' कर रहा है और उसे इसके परिणाम भुगतने होंगे.

X
अभ्यास करते भारतीय सेना के जवान (फाइल फोटो)
अभ्यास करते भारतीय सेना के जवान (फाइल फोटो)

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने हाल ही में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) को हासिल करने के संकेत दिए थे. राजनाथ सिंह के इस बयान पर सेना की भी प्रतिक्रिया आई है. चिनार कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एडीएस औजला ने कहा कि भारतीय सेनाएं हमेशा तैयार हैं. एक बार पीओके को हासिल करने का आदेश मिला, तो फिर हम पीछे नहीं देखेंगे. 

दरअसल, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शौर्य दिवस पर जम्मू कश्मीर के दौरे पर पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने पाकिस्तान को चुनौती दी थी. राजनाथ सिंह ने कहा था कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में उसने (पाकिस्तान) जो किया है, उसकी कीमत चुकानी पड़ेगी. पाकिस्तान अपने कब्जे वाले कश्मीर में लोगों पर 'अत्याचार' कर रहा है और उसे इसके परिणाम भुगतने होंगे. उन्होंने आगे कहा कि हमने कश्मीर का विकास कार्य शुरू कर दिया है, लेकिन हम तब तक नहीं रुकेंगे जब तक हम गिलगित-बाल्टिस्तान नहीं पहुंच जाते.

भारतीय सेना कार्रवाई के लिए तैयार- लेफ्टिनेंट जनरल
 
चिनार कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एडीएस औजला ने इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जब भी ऐसा फैसला होगा या सेना को ऐसा आदेश दिया जाएगा, भारतीय सेना उस पर कार्रवाई करने के लिए पूरी तरह से तैयार है. एडीएस औजला ने श्रीनगर हेडक्वार्टर में कहा, ''हम अपनी पारंपरिक क्षमताओं में सुधार कर रहे हैं, प्रशिक्षण दिया जा रहा है और हम क्षमताओं को बढ़ा रहे हैं. इसलिए, जब भी इसकी जरूरत होगी, तो पीछे मुड़कर नहीं देखना पड़ेगा.''

LOC पर मौजूदा स्थिति के बारे में बात करते हुए एडीएस औजला ने कहा कि अभी मौजूदा स्थिति नियंत्रण में है. लेकिन जब भी मौका मिलता है घुसपैठ की कोशिशें होती हैं, लेकिन हमारी सीमा की रक्षा के लिए भारतीय सेना पूरी ताकत से तैयार है. LOC की रखवाली की जिम्मेदारी संभाल रहे कोर कमांडर ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच संघर्ष विराम समझौते के बाद से 20 महीनों में भारतीय सेना की रक्षा तैयारियों को भारी प्रोत्साहन मिला है. औजला ने कहा, जब भी सीमा पर घुसपैठ की कोशिश होती है, लेकिन सेना ऐसी कोशिशों को विफल करने या मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम है. 

चिनार कॉर्प्स कमांडर औजला ने कश्मीर में हाल ही में हुईं टारगेट किलिंग की घटनाओं को कायरतापूर्ण करार दिया. उन्होंने कही कि यह हमेशा से चुनौती रही है, लेकिन भारतीय सेना घाटी में शांति लाने के लिए पूरी कोशिश में जुटी है. उन्होंने कहा कि जहां तक आतंकियों की बात है, उनके पूरे नेतृत्व का खात्मा हो चुका है. अब चीजें काफी बेहतर दिख रही हैं. 

Input- Akshay Kumar Dongare

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें