scorecardresearch
 

मुंबई: वैक्सीनेशन के बाद डॉक्टर को हुआ कोरोना, लगी थी कोविशील्ड की पहली डोज

महाराष्ट्र के मुंबई में बीवाईएल नायर अस्पताल से जुड़ी एक स्वास्थ्यकर्मी के वैक्सीन की पहली डोज लेने के 10 दिन बाद कोरोना संक्रमित हो जाने का मामला सामने आया है.

वैक्सीन लगाने के 10 दिन बाद दिखे लक्षण (फाइल फोटोः पीटीआई) वैक्सीन लगाने के 10 दिन बाद दिखे लक्षण (फाइल फोटोः पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बीवाईएल नायर अस्पताल के डॉक्टर को हुआ कोरोना
  • वैक्सीन लगने के 10 दिन बाद दिखने लगे थे लक्षण
  • टीके का दूसरा डोज नहीं लगा था

कोरोना वायरस की वैक्सीन आ चुकी है. वैक्सीनेशन की शुरुआत भी हो चुकी है. देश में जहां कोरोना संक्रमितों की तादाद में कमी आई है, वहीं महाराष्ट्र में यह फिर से बढ़ने लगी है. वैक्सीन आने के बाद जहां जनता में थोड़ी लापरवाही आई है, वहीं वैक्सीनेशन के बाद भी लोगों के कोरोना की चपेट में आ जाने के मामले भी सामने आ रहे हैं. ऐसा ही मामला महाराष्ट्र के मुंबई में भी सामने आया है.

मुंबई में बीवाईएल नायर अस्पताल से जुड़ी एक डॉक्टर के के वैक्सीन की पहली डोज लेने के 10 दिन बाद कोरोना संक्रमित हो जाने का मामला सामने आया है. कोरोना की चपेट में आई स्वास्थ्यकर्मी को उपचार के लिए सेवन हिल्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था. सेवन हिल्स अस्पताल में उपचार के बाद कोरोना संक्रमित स्वास्थ्यकर्मी अब पूरी तरह से ठीक होकर डिस्चार्ज की जा चुकी हैं.

जानकारी के मुताबिक नायर अस्पताल की स्वास्थ्यकर्मी को कोरोना की वैक्सीन कोविशील्ड लगाई गई थी. कोविशील्ड की पहली डोज लगाए जाने के 10 दिन बाद स्वास्थ्यकर्मी की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई. इस संबंध में आजतक से बात करते हुए नायर हॉस्पिटल के डीन ने बताया कि डॉक्टर में वैक्सीनेशन के 10 दिन बाद चिकित्सक में कुछ लक्षण नजर आने शुरू हुए.

उन्होंने बताया कि कोरोना के लक्षण नजर आने पर डॉक्टर को सेवन हिल्स अस्पताल में भर्ती कराया गया. वैक्सीनेशन के बावजूद डॉक्टर के कोरोना वायरस की चपेट में आ जाने को लेकर विशेषज्ञों का कहना है कि वैक्सीन की दोनों डोज के बाद भी इम्यूनिटी किक होने में कुछ समय लगेगा. विशेषज्ञों की राय है कि सावधानी बरतना सबसे महत्वपूर्ण है.

क्या है विशेषज्ञों की राय

चिकित्सा विशेषज्ञों की राय है कि कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगाए जाने के बाद 15 से 20 दिन के अंदर एंटीबॉडी विकसित होती है जो सुरक्षा देने के लिए पर्याप्त नहीं है. वैक्सीन की दूसरी डोज के 15 दिन बाद एंटीबॉडीज प्रभावशाली तरीके से किक करती हैं. विशेषज्ञों की राय से साफ है कि वैक्सीन की 1 डोज लेने के तुरंत बाद कोई व्यक्ति संक्रमित हो सकता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें