scorecardresearch
 

महाराष्ट्र में सरकार पर फंसा पेच: एक्शन में फडणवीस, घर पर बुलाई आपात बैठक

यह बैठक सीएम फडणवीस के आवास पर बुलाई गई है. इस बैठक में महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल, सुधीर मुंगंटीवार, विनोद तावड़े समेत कोर कमेटी के सभी सदस्य शिरकत करेंगे. सरकार गठन को लेकर शिवसेना की शर्तों के बीच होने जा रही ये बैठक बेहद अहम है.

सीएम फडणवीस के आवास पर बुलाई गई आपात बैठक सीएम फडणवीस के आवास पर बुलाई गई आपात बैठक

  • महाराष्ट्र में सरकार गठन पर तस्वीर अब तक साफ नहीं
  • CM फडणवीस के आवास पर बुलाई गई बीजेपी की बैठक
  • सोमवार को दिल्ली में अमित शाह से मिले थे फडणवीस

महाराष्ट्र में सियासी घटनाक्रम तेजी से बदल रहा है. सरकार पर सस्पेंस के बीच मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मुंबई में अपने आवास पर बीजेपी कोर कमेटी की आपात बैठक बुलाई है. बताया जा रहा है कि इस बैठक में सरकार गठन को लेकर अहम चर्चा हो सकती है.

मुंबई में फडणवीस के आवास पर बुलाई गई यह आपात बैठक काफी अहम मानी जा रही है, क्योंकि सोमवार को ही फडणवीस ने दिल्ली में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की थी जिसके बाद यह इमरजेंसी बैठक बुलाई गई है. इस बैठक में महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल, सुधीर मुंगंटीवार, विनोद तावड़े समेत कोर कमेटी के दूसरे सदस्य भी शिरकत करेंगे. साथ ही पार्टी संगठन के नेता वी. सतीश और विजय पुराणिक भी इस बैठक में पहुंच सकते हैं. सरकार गठन को लेकर शिवसेना की शर्तों के बीच होने जा रही ये बैठक बेहद अहम है.

शिवसेना के तेवरों ने बढ़ाई बीजेपी की मुश्किल

बता दें कि बीजेपी और शिवसेना ने एक साथ महाराष्ट्र विधानसभा का चुनाव लड़ा था. 24 अक्टूबर को आए नतीजों में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिल सका और बीजेपी 105 सीटों पर सिमट गई, जबकि शिवसेना 56 सीटें जीतने में कामयाब रही. दोनों दलों के पास सरकार बनाने के लिए पर्याप्त विधायक हैं, लेकिन दोनों ही दल 50-50 फॉर्मूले को अपने-अपने हिसाब से आगे रख रहे हैं और सत्ता में भागीदारी को लेकर चल रही खींचतान के चलते अब तक सरकार का गठन नहीं हो पाया है.

चर्चा यहां तक पहुंच गई है कि शिवसेना बीजेपी को छोड़कर एनसीपी और कांग्रेस के सहयोग से सरकार बना सकती है. हालांकि, इस विषय पर अब तक कोई ठोस बातचीत सामने नहीं आई है. ऐसे में अब यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या बीजेपी कोर कमेटी की बैठक में शिवसेना की शर्तों को मानकर सरकार गठन का सस्पेंस खत्म किया जाएगा या पार्टी कोई और फैसला लेती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें