scorecardresearch
 

झारखंड के मंत्री बन्ना गुप्ता बोले, 'सभी नेता बन गए चोर, एमएलए बन गए डकैत'

अपनी बेबाकी और तल्ख अंदाज के लिए फेमस झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने होली मिलन समारोह के दौरान कविता पढ़ते हुए कहा, 'चोर सभी वह नेता बन गए, डकैत बने एमएलए.'

X
झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कविता सम्मेलन के दौरान पढ़ी कविता
  • नेताओं पर बन्ना गुप्ता ने कसा तंज

झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता इन दिनों अपने बेबाकी और तल्ख अंदाज़ को लेकर चर्चे में हैं. पारसनाथ में कांग्रेस के चिंतन शिविर में बीते दिनों उन्होंने कहा था कि मुख्यमंत्री ही कांग्रेस को बर्बाद करने में लगे हुए हैं. अब एक होली मिलन समारोह में उन्होंने कहा कि चोर सभी नेता बन गए, डकैत बन गए MLA.

जमशेदपुर कदमा न्यू फार्म एरिया दुर्गा पूजा मैदान सामुदायिक भवन में बन्ना गुप्ता फैंस क्लब के द्वारा आयोजित कवि सम्मेलन सह होली मिलन समारोह का आयोजन किया गया था, जहां बतौर मुख्य अतिथि राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता पहुंचे थे. कवि सम्मेलन में लोगों को अपनी कविता से स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने खूब हंसाया.

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने अपनी कविता लोगों के बीच पेश की. इसमें उन्होंने कहा, 'कवियों के निशाने पर हमेशा नेता और पुलिस रहते हैं.' बन्ना गुप्ता ने भी अपने कविता में नेता और पुलिस पर निशाना साधा, जहां उन्होंने यह कह डाला, 'चोर सभी वह नेता बन गए, डकैत बने एमएलए.' साथ ही उन्होंने पुलिस को भी नहीं बख्शा.

इससे पहले स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए कांग्रेस को बर्बाद करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा था, 'कांग्रेस के चिंतन शिविर से शरीर में नई ऊर्जा आ गई है, लेकिन सभी लोगों को दुखी हैं, दर्द में हैं. हम गठबंधन की सरकार को चला रहे हैं और इस सरकार में हमारी स्थिति.. जब मांझी ही नाव डुबोये तो उसे कौन बचाये जैसी हो गई है.'

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा था, 'हम मंत्री बनकर घूम रहे हैं, यह अच्छा लगता है, लेकिन हम मंत्री कैसे बने, कैसे जमशेदपुर जैसे शहर से एक लाख वोट हम लेकर आ रहे हैं, यह सोचने की जरूरत है. हमें यह तय करना होगा हमारी विचारधारा व सिद्धान्त कभी कमजोर नहीं हो और राष्ट्रभाषा के साथ कभी समझौता नहीं किया जा सकता.'

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा था, 'जिस दिन राष्ट्रभाषा के साथ और मां भारती के साथ समझौता करना पड़ेगा तो मेरे जैसा लोग इस्तीफा देना उचित समझेंगे. उन्होंने कहा कि समन्वय समिति बने और इसी से हम उनको घेर सकते हैं.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें